छत्तीसगढ़

अम्बेडकर जयंती समारोह में डॉ. सिंह ने किया पुस्तिकाओं का विमोचन

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सवेरे राजधानी रायपुर में भारतीय संविधान के महान शिल्पकार बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर आयोजित समारोह में आदिम जाति और अनुसूचित जाति विकास विभाग तथा राज्य अनुसूचित जाति आयोग द्वारा प्रकाशित पुस्तिकाओं का विमोचन किया। नगर निगम रायपुर और जिला प्रशासन द्वारा यह समारोह स्थानीय घड़ी चौक स्थित डॉ. अम्बेडकर की प्रतिमा के सामने किया गया। मुख्यमंत्री द्वारा विमोचित पुस्तिकाओं में से एक पुस्तिका जाति प्रमाण पत्र जारी करने, सत्यापित करने और निरस्त करने के संबंध में शासन के दिशा-निर्देशों पर और दूसरी पुस्तिका अनुसूचित जाति -जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 तथा विभागीय योजनाओं पर आधारित है।

दोनों पुस्तिकाओं का प्रकाशन आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा किया गया है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ’संविधान पुरूष-भारत रत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर’ शीर्षक से प्रकाशित पुस्तिका का भी विमोचन किया, जो डॉ. अम्बेडकर की जीवनगाथा पर केन्द्रित है। इसका प्रकाशन छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग द्वारा आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग के मार्गदर्शन में किया गया है। समारोह में विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, नगर निगम रायपुर के महापौर प्रमोद दुबे, छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह कैम्बो, सदस्य तौकीर रजा, छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉ. सियाराम साहू,

छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के उपाध्यक्ष विकास मरकाम, नगर निगम रायपुर के सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव, पूर्व महापौर सुनील सोनी, पूर्व पार्षद सुनील बांदरे सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने समारोह में छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग की वेबसाइट का भी शुभारंभ किया। इसमें अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र जारी करने की प्रक्रिया आदि की जानकारी दी गई है। समारोह स्थल पर अनुसूचित जाति और जनजाति विकास योजनाओं पर आधारित प्रदर्शनी लगाकर संबंधित कार्यालयों द्वारा लोगों को इन योजनाओं की जानकारी दी गई।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.