मनोरंजनराष्ट्रीय

कंगना को कानूनी रूप से मदद करने को तैयार डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी

खुद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर इस बात को किया कंफर्म

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में कंगना रनौत ने एक्टर को न्याय दिलाने के लिए काफी जोर लगाया है. उन्होंने वीड‍ियोज जारी कर ये कहा कि सुशांत सुसाइड नहीं कर सकते अथवा उनके सुसाइड के पीछे जिम्मेदार लोगों की जांच की जाए.

उन्होंने नेपोट‍िज्म मुद्दे पर भी बोलते हुए कई बड़े सेलेब्स पर आरोप लगाए कि उनकी वजह से सुशांत की मौत हुई है. इस मामले में पुलिस ने भी कंगना से बयान लेने की कोश‍िश की. अब कंगना की मदद के लिए बीजेपी नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रमण्यम स्वामी सामने आए हैं.

सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर कहा- ‘कंगना रनौत के ऑफ‍िस ने ईशकरण से संपर्क किया. ईशकरण और मैं जल्द ही मिलकर चर्चा करेंगे कि कैसे कंगना को उनके कानूनी अध‍िकारों में मदद करें, और मुंबई पुलिस के साथ कब मीट‍िंग की जाए. मुझे बताया गया है कि वे हिंदी सिनेमा स्टारडम की टॉप तीन स्टार्स में से एक हैं लेक‍िन हिम्मत के मामले में वे सबसे अव्वल हैं.’

इससे पहले सुब्रमण्यम स्वामी के वकील ईशकरण ने सोशल मीड‍िया पर जानकारी दी थी कि डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी, कंगना को कानूनी रूप से मदद करने को तैयार हैं. ईशकरण ने ट्वीट कर कहा था डॉ. स्वामी पहले ही ये बयान दे चुके हैं कि अगर कंगना या उनकी टीम को पुलिस में स्टेटमेंट देने के दौरान किसी प्रकार की कोई कानूनी सहायता चाहिए तो वे कंगना की पूरी मदद करेंगे.

सुब्रमण्यम स्वामी ने की वकील ईशकरण की नियुक्ति

मालूम हो कि ईशकरण वही वकील हैं जिनकी नियुक्ति सुब्रमण्यम स्वामी ने की है. उन्होंने ईशकरण से सुशांत मामले में सभी जरूरी दस्तावेज इकट्ठा करने के लिए कहा है, जिससे जरूरत पड़ने पर मामले की सीबीआई जांच की जा सके. ईशकरण ने सुशांत केस में तेजी से काम किया है. उन्होंने हाल ही में मुंबई पुलिस से अपील की थी कि सुशांत के घर को ठीक तरीके से सील किया जाए और उनके सभी सामन को संभाल कर रखा जाए.

वहीं कुछ दिनों पहले कंगना ने एक इंटरव्यू में इस बात का जिक्र किया था कि सुशांत केस में पुलिस ने उनका बयान लेने की बात कही थी. इसपर उन्होंने पुलिस से कहा कि वे इस वक्त मनाली में हैं और अगर कोई पुलिस अध‍िकारी उनका बयान लेने के लिए वहां आता है तो वे पूरा सहयोग देंगी. लेक‍िन इसके बाद पुलिस की ओर से कोई जवाब नहीं मिला.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button