छत्तीसगढ़

सफाई में डॉ. सीवी रामन् विश्वविद्यालय को मिला देश में तीसरा स्थान

विकल्प तललवार :

बिलासपुर।

भारत सरकार के केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने डॉ. सीवी रामन् विश्वविद्यालय को स्वच्छ कैंपस रैंकिंग-2018 में देश भर के विश्वविद्यालयों में तीसरा स्थान प्रदान किया है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा तय किए गए 10 मापदंडों में डॉ. सीवी रामन् विश्वविद्यालय खरा उतरा है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और उच्च शिक्षा सचिव आर सुब्रमणियम ने विश्वविद्यालय को अवॉर्ड प्रदान किया।

यह अवॉर्ड सीवीआरयू के डायरेक्टर अभिषेक पंडित ने ग्रहण किया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आरपी दुबे ने कहा, स्वच्छ भारत ही स्वस्थ भारत की नींव है। इसलिए देश भर में प्रधानमंत्री के निर्देश पर स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है।

इसकी पहली जिम्मेदारी शिक्षण संस्थानों की है। सबसे पहले हमें स्वच्छता का पालन करना चाहिए, तभी हम युवाओं को सीख दे पाएंगे। भारत सरकार ने इसके लिए देश के सभी विश्वविद्यालयों की स्वच्छता रैंकिंग करने का फैसला लिया था।

विश्वविद्यालयों से ऑनलाइन आवेदन मंगाए गए थे। इस आधार पर मंत्रालय की टीम ने विश्वविद्यालय में निरीक्षण किया था। इसके बाद ही देश के सभी विश्वविद्यालयों को स्वच्छ कैंपस रैंकिंग.2018 प्रदान की गई है। इसके लिए नई दिल्ली में एक आयोजन किया गया था।

10 बिंदुओं पर निरीक्षण

विश्वविद्यालय के कुलसचिव गौरव शुक्ला ने बताया कि स्वच्छता रैंकिंग के लिए 10 बिंदु तय किए गए थे। कैंपस में शुद्व पानी की व्यवस्था, कचना प्रबंधन, रेन वाटर हार्वेंटिंग सिस्टम, हरियाली,

गोबर गैस प्लांट और साफ-सफाई संबंधी अन्य विषयों को शामिल किया गया था। सरकार ने कैंपस निरीक्षण के लिए विशेषज्ञों की टीम गठित की थी। टीम ने कैंपस का निरीक्षण कर रिपोर्ट मंत्रालय को भेजी। इस आधार पर रैंंकिग प्रदान की गई।

Summary
Review Date
Reviewed Item
सफाई में डॉ. सीवी रामन् विश्वविद्यालय को मिला देश में तीसरा स्थान
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags