कर्नाटक का नाटक: कांग्रेस और लिंगायत के बाद मुस्लिम समुदाय ने मांगा डिप्टी सीएम

फिलहाल विधानसभा स्पीकर और डिप्टी सीएम को लेकर चर्चा जारी

नई दिल्ली। कर्नाटक में कल होने वाले कांग्रेस-जेडीएस सरकार के गठन से पहले राज्य में डिप्टी सीएम के पद को लेकर पेंच फंसता नजर आ रहा है। पहले लिंगायत और फिर कांग्रेस के बाद अब मुस्लिम समुदाय ने भी इस पद के लिए दावेदारी पेश कर दी है। फिलहाल विधानसभा स्पीकर और डिप्टी सीएम को लेकर चर्चा जारी है। जानकारी के अनुसार राज्य विधानसभा में स्पीकर कांग्रेस का हो सकता है। सूत्रों के हवाले से आ रही खबरों के अनुसार फिलहाल कांग्रेस ने नाम तय नहीं किया है लेकिन स्पीकर कांग्रेस का ही होगा। वहीं कांग्रेस ने सरकार में दोनों डिप्टी सीएम अपनी पार्टी का बनाने की मांग कर रही है लेकिन जेडीएस ने इस पर चुप्पी साध रखी है।

दूसरी तरफ मुस्लिम समूह ने भी राज्य में एक डिप्टी सीएम मुस्लिम विधायक को बनाने की मांग की है। संगठन का कहना है कि सात बार से विधायक रहे रोशन बैग को नई सरकार में उपमुख्यमंत्री का पद दिया जाना चाहिए। समाज की इस मांग को लेकर विधायक रोशन बैग ने कहा कि इसमे क्या हर्ज है। अगर दूसरे समुदाय के लोग यह मांग कर सकते हैं तो हम क्यों नहीं? वैसे भी अंतिम फैसला तो हाईकमान को ही लेना है। इससे पहले लिंगायत समुदाय ने भी किसी लिंगायत नेता को डिप्टी सीएम बनाने के लिए कुमारस्वामी को पत्र लिखा था। कर्नाटक में कांग्रेस और जदएस गठबंधन की सरकार 23 मई को शाम 4.30 बजे विधानसभा में शपथ लेगी।

उससे पहले दोनों दलों के बीच डिप्टी सीएम, मंत्री और विभागों के बंटवारे को लेकर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक, डिप्टी सीएम के दोनों पदों पर कांग्रेस अपने वरिष्ठ नेता परमेश्वरन और डीके शिवकुमार को बैठाना चाहती है। यह सारी कवायद खेमों में बंटी पार्टी को एकजुट रखने की है। खासकर ऐसे समय जब पार्टी विधायकों के तोड़फोड़ की कोशिश की जा रही है। खबरों के अनुसार उपमुख्यमंत्री पद के लिए दोनों दलों के बीच आज बेंगलुरु में बैठक हो सकती है।

advt
Back to top button