खूंखार आवारा कुत्तों ने राहगीरों को बनाया शिकार, चार लोग हुए घायल

राजनांदगांव।

शहर में इन दिनों आवारा कुत्तों का आतंक है। हर गली मोहल्लों में मजमा जमाए कुत्ते मासूम बच्चों व राहगीरों को अपना शिकार बना रहे हैं। मंगलवार व बुधवार को आवारा कुत्तों ने सिविल लाइन क्षेत्र में राह में चलते 4 लोगों पर हमला कर घायल कर दिया है।

भयभीत शहरवासी

कुत्तों के आतंक से शहरवासी भयभीत है। कई बार शिकायत बाद भी निगम प्रशासन आवारा कुत्तों को पकडऩे गंभीरता नहीं दिखा रहा है। निगम प्रशासन की उदासीनता के कारण शहरवासी दहशत में हैं। बुधवार को आवारा कुत्तों ने सिविल लाइन निवासी 18 वर्षीय गिरीश महाले पैदल कहीं जा रहा था।

इस दौरान आवारा कुत्ते हमला करते हुए उसे काट लिया। युवक तत्काल मेडिकल अस्पताल पहुंच कर अपना इलाज कराया। वहीं सिविल लाइन निवासी 26 वर्षीय गोपेश्वर वर्मा कलेक्टोरेट के पीछे वाले रास्ते से जा रहा था। अचनाक कुत्तों ने हमला कर काट लिया। इसके अलावा सिविल लाइन में ही तुलेश्वर महाले व एक अन्य युवक को कुत्तों ने काट लिया।

मेडिकल कॉलेज में चल रहा उपचार

मिली जानकारी के अनुसार शहर के कंचनबाग क्षेत्र में आवारा कुत्तों ने पिछले दिनों दो बच्चों व एक बुजुर्ग को काट लिया। पीडि़तों को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि आवारा कुत्ते
बच्चे व महिला के ऊपर टूट पड़ते हैं और काट कर बुरी तरह घायल कर रहे हैं।

निगम कमिश्नर अश्वनी देवांगन ने बताया कि आवारा कुत्तों की धर पकड़ व बधियाकरण करने टीम को जिम्मेदारी दी गई है। आदेश जारी हो चुका है। जल्द ही कुत्तों की धरपकड़ शुरु की जाएगी।

शहर के हर गलियों मेें आवारा कुत्तों का जमावड़ा लगा रहता है। आतंक का पर्याय बन चुके कुत्ते रहागीरों व मासूम बच्चों को काट रहे हैं। सप्ताह भर में आवारा कुत्तों के काटने का शहर में दर्जनभर मामले सामने आ चुका है। इससे पहले भी कई लोग कुत्तों के आतंक के शिकार हो चुके हैं।

गंभीरता नहीं दिखा रहे

कुत्तों का आतंक इतना बड़ गया है कि घरों के सामने खड़े वाहनों के सीट को फाड़ कर नुकसान पहुंचा रहे हैं। कुत्तों की हरकतों से शहवासी परेशान है। बावजूद इसके निगम प्रशासन धर-पकड़ करने गंभीरता नहीं दिखा रहे हैं। कुत्ते बड़ी संख्या मेें झुंड में रहते हैं और वाहनों सहित आम लोगों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

Back to top button