छत्तीसगढ़

खुद का आशियाना बनाने का सपना अब होगा साकार: अनिला

छोटे जमीनों की रजिस्ट्री के फैसले से  भू स्वामियों में खुशी की लहर 

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा छोटे भूखंडों के पंजीयन पर लगी रोक हटाने के बाद मध्यम और निम्न वर्ग को बड़ी राहत मिली है। पंजीयन एवं मुद्रांक विभाग द्वारा अब पांच डिसमिल से कम भूमि की भी रजिस्ट्री की जा रही है। जिले के सभी उप पंजीयक कार्यालयों में भू खंड स्वामियों की आवाजाही बढ़ गई है। इस फैसले से सभी छोटे भूखंड स्वामियों को काफी सहूलियत हो गई है। अब जमीन खरीदना और बेचना आसान हो गया है।

बलौदाबाजार की इंदिरा कॉलोनी निवासी अनिला मार्कण्डेय पति दयाराम मार्कण्डेय ने कहा कि हर किसी का सपना होता है कि छोटा ही सही मगर खुद का घर हो। मध्यम वर्गीय परिवार अपने जीवन भर की कमाई से एक छोटा भूखंड ही खरीद पाता है जहाँ वो अपने सपनों का आशियाना बना सके। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के इस फैसले से उनका ही नहीं बल्कि कई लोगों का खुद का घर बनाने का सपना पूरा होगा।

मार्कण्डेय ने बताया कि उन्होंने नयापारा निवासी कल्याण सिंह से बलौदाबाजार भाटापारा मार्ग से 200 मीटर अंदर ग्राम पंचायत भरसेली में स्थित 3 डिसमिल भूखंड खरीदा है। जिसका खसरा क्रमांक 880ध्23 (आठ सौ अस्सी बटा तेईस) है। मार्कण्डेय ने बताया कि उन्होंने 6 लाख 75 हजार में यह भूखंड खरीदा है। जिसके लिए उनके द्वारा 27000 रुपए मुद्रांक शुल्क, 6750 रुपए जनपद कर और1350 रुपए उपकर इस प्रकार 35100 का कुल शुल्क दिया गया है। उसका सपना है कि वह अपने जमीन में खुद का आशियाना बनाए।

Tags
Back to top button