हेल्थ

शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है दूध को कच्चा पीना

कच्चे दूध में में खतरनाक बैक्टीरिया मौजूद

आपने दूध के फायदों के बारें में तो सुना होगा, लेकिन क्या आपने कच्चे दूध के लाभ के बारें में सुना है। कच्चा दूध पीने से न सिर्फ आपकी त्वचा को लाभ पहुंचता है बल्कि इसे पीने से स्वास्थ भी बेहतर होता है।

दूध गर्म करने के बाद उसमें से पोषक तत्व निकल जाते हैं, लेकिन अगर आप दूध को कच्चा पीते हैं तो आपके शरीर को ज्यादा से ज्यादा पोषक तत्व मिलेंगे। कच्चे दूध के फायदों के अलावा इससे जुड़े कुछ नुकसान भी हैं जिनके बारें में आप इस लेख में जानेंगे।

रिसर्च से सामने आया है कि कच्चे दूध में बैक्टीरिया होने का डर रहता है। क्यों कि पाश्चराइजेशन दूध पोषण तत्व को कम किए बिना जीवाणुओं का खात्मा है। वहीं कच्चे दूध को रूम टेम्प्रेचर पर रखने से रोगाणुरोधी प्रतिरोध जीन और बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ती है। ऐसे में यह सेहत के लिए हानिकारक होता है।

रिसर्चर्स का कहना है कि कच्चे दूध में में खतरनाक बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। न्यूट्रल पीएच बैलेंस, भरपूर मात्रा में पानी और अन्य पोषक तत्वों की मौजूदगी के कारण कच्चे दूध में बैक्टीरिया अधिक पनपते हैं और लंबे समय तक जिंदा रहते हैं। यही वजह है कि कच्चा दूध जल्दी खराब भी हो जाता है। इसके साथ ही इसे पीने से इंफेक्शन होने का भी खतरा होता है।

वहीं रिपोर्ट की मानें तो तकरीबन हर साल 30 लाख लोगों में एंटीबायोटिक प्रतिरोधी संक्रमण मिलता है, जिसका कारण कच्ची दूध पीना देखा गया। कच्चे दूध पीने का नुकसान – इंफेक्शन होने का खतरा – डाइजेशन में दिक्कत आना – डायरिया – डिहाइड्रेशन – आर्थराइटिस – हीमोलिटिक यूरिमिक सिंड्रोम – उल्टी – बुखार

क्या है दूध पीने का सही तरीका

हल्का गुनगुना दूध पीने से डाइजेशन भी अच्छा होता है। दिनभर में आपको 150 से 200 ml दूध ही पीना चाहिए। अगर आप चाहें तो दूध में आप दालचीनी, बादाम, हल्दी और शहद भी मिला सकते हैं। इससे आपका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होगा और बीमारियों से बचाव होगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button