शिमला में पेयजल संकट : प्रशासन ने अंतर्राष्ट्रीय समर फैस्टीवल किया स्थगित

शिमला: राजधानी शिमला में गहराए पेयजल संकट के चलते अब अंतर्राष्ट्रीय ग्रीष्मोत्सव शिमला भी स्थगित कर दिया गया है। राजधानी में ग्रीष्मोत्सव को लेकर हालांकि प्रशासन द्वारा इसकी तैयारियां शुरू की गईं थीं और इसके चलते फैस्टीवल के दौरान आयोजित होने वाली चित्रकला प्रतियोगिता के साथ ही लोकल स्तर पर प्रस्तुति देने वाले कलाकारों के इंटरव्यू की प्रक्रिया भी पूर्ण हो चुकी थी लेकिन अब पेयजल संकट के चलते इसे स्थगित किया गया है।

शिमला ग्रीष्मोत्सव का आयोजन 1 से 5 जून तक किया जाना था। प्रति वर्ष यह आयोजन इसी तिथि को किया जाता है लेकिन अब पेयजल संकट का असर ग्रीष्मोत्सव पर भी पड़ा है, ऐसे में ग्रीष्मोत्सव के आयोजन की तिथि को अब स्थगित कर दिया गया है।

फिर से निर्धारित होगी आयोजन की तिथि : जिला प्रशासन शिमला के प्रवक्ता ने बताया कि शिमला शहर में पेयजल आपूर्ति की गंभीर समस्या से उत्पन्न हुई परिस्थितियों के कारण ऐसा किया गया है। ग्रीष्मोत्सव के आयोजन की आगामी तिथि पुन: निर्धारित की जाएगी। प्रशासन का कहना है कि शहर में पेयजल आपूर्ति की समस्या के कारण नागरिकों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

पेयजल के इस गंभीर संकट के दौरान अंतर्राष्ट्रीय शिमला ग्रीष्मोत्सव का आयोजन मानवीय दृष्टिकोण से व्यवहारिक नहीं होगा। पेयजल आपूर्ति को सुचारू बनाने के लिए जिला प्रशासन के सभी अधिकारी सक्रियता के साथ दृढ़ प्रयास कर रहे हैं। इस परिस्थिति के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है कि ग्रीष्मोत्सव का आयोजन स्थगित कर दिया जाए।

new jindal advt tree advt
Back to top button