जिले के सभी स्कूलों में पेयजल, शौचालय एवं बिजली की सुविधा अनिवार्य हो -कलेक्टर

हिमांशु सिंह ठाकुर :- ब्यूरो कवर्धा

कवर्धा :

कलेक्टर अवनीश कुमार शरण और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार ने बुधवार को जिला कार्यालय के सभा कक्ष में शिक्षा विभाग के कामकाज समीक्षा की। उन्होंने जिले के सभी स्कूलों में पेयजल, शौचालय एवं बिजली की सुविधा अनिवार्य रूप से इस पर विशेष जोर दिया।

उन्होंने ऐसे स्कूलों की जानकारी एक सप्ताह के भीतर उपलब्ध कराने को कहा, जहां ये तीनों सुविधाएं नहीं है। उन्होंने शैक्षणिक कार्यों में कसावट लाने शिक्षकों की नियमित उपस्थिति के साथ ही मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता और मध्यान्ह भोजन की सुचारू संचालन की समीक्षा की।

उन्होंने मध्यान्ह भोजन के रसोईओं का मानदेय भुगतान हर महीने की 5 तारीख तथा मध्यान्ह भोजन संचालित करने वाले स्वसहायता समूहों का मानदेय भुगतान हर महीने की 10 तारीख तक अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने जाति प्रमाण पत्र के लिए भटकना नहीं पड़े इसके लिए जिले के चारों ब्लॉक मुख्यालयों में 15 दिसम्बर से 15 जनवरी 2019 तक शिविर लगाकर पटवारी एवं राजस्व निरीक्षक की उपस्थिति में एसटी, एससी एवं ओबीसी छात्र-छात्राओं के शत-प्रतिशत जाति प्रमाण पत्र बनवाने के भी निर्देश दिए।

बैठक में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान के तहत 374 फोकस शालाओं की फिर से मॉनिटरिंग करने, शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत गरीबी रेखा श्रेणी के बच्चों को शिक्षा उपलब्ध कराने, गणवेश आपूर्ति, छात्रवृत्ति हेतु बैंक खाते से आधार नंबर लिंक कराने तथा बायोमिट्रिक मशीन में शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य रूप से दर्ज कराने के निर्देश दिए।

बैठक में जिले के सभी स्कूलों में मनरेगा मद से हैण्डवास के लिए रनिंग वॉटर प्लेटफॉर्म बनाने पर विचार किया गया। इसके तहत कम से कम दस नल लगाए जाएंगे, ताकि बच्चे आसानी से हाथ-मुंह धो सके।

इस योजना के लिए जिला पंचायत द्वारा शीघ्र ही प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी सी.एस. ध्रुव, जिला परियोजना समन्वयक दयाल सिंह, सहायक संचालक एम.के. गुप्ता

एवं यू.आर. चन्द्राकर सहित सभी विकासखंड शिक्षा अधिकारी, सहायक विकासखंड शिक्षा अधिकारी, सहायक परियोजना समन्वयक, विकासखंड स्त्रोत केन्द्र के प्रभारी और संकुल स्त्रोत समन्वयक उपस्थित थे।

Back to top button