मैंगो डिश को लेकर द.कोरिया – जापान में विवाद

टोक्योः अपने परमाणु परीक्षण को लेकर सुर्खियों में रहने वाला कोरियाई महाद्वीप इस बार एक डिश को लेकर विवादों में है। 27 अप्रैल को होने वाले नॉर्थ-साउथ सम्मेलन में दक्षिण कोरिया मैंगो जूस से बनी एक डिश पेश करने वाला है जिस पर जापान ने आपत्ति जताई है।

जापान ने कहा है कि दक्षिण कोरिया को मैंगो मूज डेजर्ट सर्व करने के बारे में दोबारा विचार करना चाहिए। दरअसल, जापान की नाराजगी इसलिए है क्योंकि इस डिश के साथ कोरियाई प्रायद्वीप का मैप भी दिखाई देता है। इसमें कई ऐसे द्वीप हैं, जिसको लेकर जापान के साथ विवाद है।

भोजन के बाद परोसी जाने वाली इस डिश को पब्लिसिटी फोटो में ‘स्प्रिंग ऑफ द पीपल’ बताया जाता है। डिश के साथ जापान में कहा जानेवाला टेकशिमा और कोरिया में डोक्डो का मैप भी प्रदर्शित किया जाएगा, जो जापान सागर में देशों के बीचोंबीच पड़ता है।

सियोल इसे पूर्वी सागर बताता है। जापान के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा, ‘यह बेहद खेदजनक है। हमने कहा है कि इस डेजर्ट को न परोसा जाए।’ जापान ने दक्षिण कोरिया से शिकायत की है कि मार्च में विंटर पैरालिंपिक्स के दौरान नॉर्थ और साउथ कोरिया की टीम के बीच हुई विमिंज आइस हॉकी मैच के दौरान इसी तरह की डिजाइन के फ्लैग फैन्स भी लहरा रहे थे।

यह ताजा विवाद ऐसे समय में सामने आया है जब नॉर्थ कोरिया के लीडर किम जोंग-उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन शुक्रवार को प्योंगयांग के परमाणु वेपंज प्रोग्राम के बारे में चर्चा करनेवाले हैं। बता दें कि नॉर्थ कोरिया-साउथ कोरिया और जापान के बीच क्षेत्रीय विवादों को लेकर संबंध तनावपूर्ण रहे हैं।

Back to top button