किरोड़ीमल रेलवे स्टेशन के पास कलकी में आरक्षक की ट्रेन से कट कर मौत

रायगढ़।

एक आरक्षक की ट्रेन से कटने की वजह से मौत हो गई। संदिग्ध परिस्थिति में हुई इस मौत को लेकर तरह-तरह की बातें कही जा रही है। यह घटना किरोड़ीमल रेलवे स्टेशन के ग्राम कलकी के पास बताई जा रही है.

आरक्षक का शादी भी नहीं हुआ था और वे कवर्धा जिले का रहने वाला है, जो पुलिस लाइन में रह रहा था। वहीं उसके पॉकेट में डाक्टर व दवाईयों की पर्ची के अलावा अन्य सामान मिलेे है।

जिससे उसके लंबे समय से बीमार होने की बात कही जा रही है। सहयोगी जवान भी इस बात को स्वीकार कर रहे हैं। हालांकि यह हादसा है या फिर आत्महत्या की कवायद, इस बात पर फिल्हाल ससपेंस बना हुआ है। कोतरारोड पुलिस शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया है। वहीं मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के परिजनों को रायपुर जाने से रोकने की पहल में पहले से परेशान पुलिस के आला अधिकारियों की नींद उस समय उड़ गई। जब रविवार की देर रात उर्दना पुलिस लाइन में रह रहे आरक्षक की ट्रेन से कट कर मौत की खबर मिली। जिसके बाद हादसा व आत्महत्या को लेकर कयासों का दौर शुरु हो गया।

आरक्षक के ट्रेन से कट कर मौत की खबर पर कोतवाली टीआई आरके मिश्रा, कोतरारोड टीआई अमित पाटले व जवान मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे हुए थे। कोतरारोड पुलिस ने शव का पंचनामा कर मृत आरक्षक के नजदीकी दोस्तों से पूछताछ कर रही है।

पॉकेट से मिली डाक्टर की पर्ची

कोतरारोड पुलिस ने जब आरक्षक के पहने हुए कपड़ों की जांच की तो उसमें डाक्टर की पर्ची के साथ दबवाईयों के बिल भी मिले। डाक्टर की पर्ची कवर्धा अस्पताल व अन्य अस्पताल के थे।

इसस यह प्रतीत हो रहा है कि मृत आरक्षक, बीमार चल रहा था। कोतरारोड पुलिस की प्रारंभिक जांच व पूछताछ में भी जवान के बीमार होने की बात सामने आई है। हलांकि पुलिस, मौत की वजहों को खंगालने के लिए हर बिंदू को ध्यान में रख कर मामले की जांच कर रही है। इस मामले में कोतरारोड पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।

Back to top button