छत्तीसगढ़

भूमि दस्तावेजों में कमी बना मौत का कारण

भूमि मामले में आपसी रंजिश के चलते योजना बद्ध तरीके से हत्या की गई

गौरेला : 3 दिन पहले हुई हत्या का खुलासा करते हुए अनु.अधि.पुलिस अभिषेक सिंह ने बताया कि योजना बद्ध साजिश के तरीके से हत्या का अंजाम दिया गया था. जिसमें सारबहरा निवासी मो.तनवेज अहमद (राजू) 38 एवं उसके यहां कार्यरत अजय राठिया 22 (बडा करिया) मृतक के आने जाने हेतु कई दिनों तक रेकी की गई थी । आरोपियों की गिरफ्तारी की गई एवं 302 ,102 बी के तहत मामला दर्ज किया गया ।

दिनांक 9.04.2018 की रात करीब 8 बजे ज्योतिपुर डिसाईपल्स चर्च के बगल से जाने वाली गली में दोनों आरोपियों ने मृतक फखरूद्दीन के आने का इंतजार किया और उसके वहां पहुचंते ही अंधेरे का लाभ उठाकर पूर्व से छुपाकर रखे डंडे से सिर पर वार कर दिया । जिससे सायकल पर सवार फखरूद्दीन गिर गया । आरोपियों ने लगातार उसके सिर एवं चेहरे पर वार किया। ज्ञात हो कि फखरूद्दीन पेशे से कई वर्शो से दस्तावेज लेखन का कार्य कर रहे थे ।

जिसमें उन्होने आरोपी मो. तनवेज अहमद द्वारा दिसबंर 2017 में खरीदी गई भूमि के दस्तावेजों को लेकर कुछ कमियां हासिल कर ली थीं । जिससे मो. तनवेज मृतक से रंजिश रखा हुआ था साथ ही परेशान भी था । जिसमें तनवेज के घर में कार्यरत अजय राठिया के साथ मिल कर मृतक को मार देने की बात कही और फिर योजनाबद्ध तरीके से फखरूद्दीन को मारने की साजिष रच डाली ।

मारने के बाद आरोपी वहां से भागते हुए मृतक के घर के सामने से गुजरा : घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी अचानक आ रही मोटर सायकल जिसमें मृतक फखरूद्दीन का पुत्र पिता की आवाज सुनकर आ रहा था मौका देखकर वहां से भागते हुए बगल से स्कूल मैदान पहुंचे जहां उन्होने मारने के लिए प्रयुक्त डंडे को पास की नाली में फेंक दिया । और वहां से भागते हुए सारबहरा गली में आ गया और मृतक के घर से सामने से भागते हुए तहसील चैक पहुचा जहां पहले से मोटर सायकल में पहुंच चुके आरोपी मो.तनवेज उसे वहा से बिठाकर सारबहरा ले गया । और भागने की तैयारी करने लगा ं ।

पुलिस ने 3 दिनों में मामले की छानबीन कर किया खुलासा : घटना की गंभीरता देखते हुए पुलिस अधीक्षक के आदेष पर अनु.अधि. अभिशेक सिंह के नेतृत्व में जिस पर पुलिस ने तत्काल मामले की छानबीन शुरू की और घटना स्थल पर मिल रहे सबूतो और आस पास के लोगों से मिल रही जानकारी के बाद आरोपियो के भागने से पूर्व उन्हे पकड कर गहन पूछताछ की गई और मामले की ंतह तक पहुंच ही गई । और फिर शहर में चल रहे अटकलों से पर्दाफाष हुआ ।

पुलिस की इस मुहिम पर शहरवासियों ने विभाग की भूरी भूरी प्रषंसा की है । इस कार्य में अनु.अधि.अभिशेक सिंह के नेतृत्व में तैयार की गई टीम जिसमें थाना प्रभारी विलियम टोप्पो , आरक्षक राजेष षर्मा , उदय पाटले ,प्रहलाद निर्मलकर ,एवं घनष्याम आडिल षामिल थे । जिनके अथक प्रयास से मामले का खुलासा हो सका और अपराधियों को सजा मिल सकी ।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *