ईरानी ट्रॉफी मुकाबले में अपनी ख़ासियत के चलते इस गेंदबाज ने खिंचा ध्यान

वो बहुत कम गेंदबाजों के पास होता है। दरअसल अक्षय वैसे तो लेफ्ट आर्म स्पिनर हैं|

शेष भारत और रणजी चैंपियन विदर्भ के खिलाफ इस समय खेले जा रहे ईरानी ट्रॉफी के मुकाबले में एक गेंदबाज सभी का ध्यान खींच रहा है।

विदर्भ के अक्षय कर्णेवार के पास जो टैलेंट है वो बहुत कम गेंदबाजों के पास होता है। दरअसल अक्षय वैसे तो लेफ्ट आर्म स्पिनर हैं|

लेकिन वे दोनों हाथों से गेंदबाजी करते हैं, जिससे बल्लेबाज अक्सर कन्फ्यूज हो जाता है।

शेष भारत के खिलाफ मुकाबले में अक्षय ने दोनों हाथों से गेंदबाजी की और विरोधी टीम के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया।

बीसीसीआई ने उनके इस जबर्दस्त हुनर को अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर शेयर किया है और अब ये वीडियो खूब वायरल हो रहा है।

आपको बता दें कि दोनों हाथ से गेंदबाजी करने के बारे में अक्षय का कहना है कि वे सामान्य तौर पर ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते हूं।

निजी जिंदगी में भी कई काम दोनों हाथों से कर लेते हैं। उन्होंने कहा- कई बार परिवार के लोग भी चौंक जाते हैं कि मैं किस हाथ से कौन सा काम कर रहा हूं।

मुझे बाएं हाथ से गेंदबाजी करने के लिए मेरे कोच ने ही प्रेरित किया था। हमारी टीम में बाएं हाथ के स्पिनर की कमी थी|

इस वजह से मैंने इस हाथ से गेंदबाजी करने की बहुत प्रैक्टिस की और मुझे इसमें सफलता मिली।

अब हालात ये हैं कि मैं दोनों हाथों से गेंदबाजी कर लेता हूं जो विरोधी बल्लेबाजों को परेशान करती है।

आपको बता दें कि इस वक्त खेले जा रहे मैच में शेष भारत ने पहली पारी में 330 रन बनाए थे।

शेष भारत की तरफ से हनुमा विहारी ने शानदार 114 रन की शतकीय पारी खेली थी जबकि मयंक अग्रवाल शतक से चूक गए थे और उन्होंने 95 रन बनाए थे।

पहली पारी में अक्षय ने 15 ओवर गेंदबाजी की और 50 रन देकर एक विकेट लिया। इस मैच में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक विदर्भ ने पांच विकेट पर 250 रन बना लिए हैं।

पांच दिवसीय ये मुकाबला दोनों टीमों के बीच 16 फरवरी तक खेला जाएगा। पहली पारी में विदर्भ की तरफ से आदित्य सरवटे और अक्षय वखरे ने तीन-तीन विकेट लिए थे।

Back to top button