आपसी रंजिश के चलते हुआ विधायक नरेश यादव के काफिले पर ताबड़तोड़ फायरिंग

फरार दोनो आरोपियों में से एक आरोपी को पुलिस ने पकड़ लिया

नई दिल्ली: आपसी रंजिश के चलते दो हमलावरो ने महरौली विधानसभा से विजयी हुए विधायक नरेश यादव के काफिले पर फायरिंग की. यह बात फरार दोनो आरोपियों में से एक आरोपी ने पुलिस के सामने कबुल किया है.

दिल्ली पुलिस ने साफ किया है कि इस मामले में विधायक को निशाना नही बनाया गया था. हमलावर ने गाड़ी के बिल्कुल पास आकर अशोक मान को ही टारगेट किया है. अशोक मान और हमलावर के परिवार के बीच मे पुरानी रंजिश का मामला सामने आया है. फिलहाल पुलिस हमलावरों और मृतक दोनों के क्रिमिनल रिकॉर्ड खंगाल रही है. आरोपियों के नाम कालू और देव बताए जा रहे हैं.

घटना मंगलवार रात 10:30 बजे की है जब महरौली विधानसभा से विजयी हुए विधायक नरेश यादव अपने समर्थकों के साथ कारो के काफिले में किशनगंढ गांव के मंदिर से दर्शन कर के लौट रहे थे.

उसी दौरान दो हमलावरों ने नरेश यादव की कार पर हमला कर दिया. नरेश यादव एक ओपन कार में थे और उनके साथ उनके समर्थक भी थे. हमलावरों की गोली नरेश के दो समर्थकों को लगी. घायल समर्थकों को अस्तपताल ले जाया गया जहां अशोक मान नाम के समर्थक की मौत हो गई और दूसरा हरेंद्र घायल हो गया.

हमले के दौरान विधायक भी उसी कार में सवार थे जिसको टारगेट कर के गोलियां चलाई गई थी. विधायक नरेश यादव ने बताया कि वो अपनी जीत के बाद काउंटिंग सेंटर से सर्टिफिकेट लेकर धार्मिक स्थलों पर गए थे और रात 10 बजे किशनगढ़ गांव के मंदिर में आये थे. नरेश यादव ने बताया कि उनकी किसी से कोई दुश्नमनी नही है और न ही उन्हें चुनावों के दौरान कोई धमकी मिली थी.

Tags
Back to top button