पैरेंटिंगलाइफ स्टाइल

शादी के दबाव के चलते लड़की ने उठाया अनोखा कदम, जाने क्या हुआ ?

वह इन सबसे इतना ज्यादा तंग आ चुकी थी कि उसने खुद से ही शादी करने का फैसला कर लिया.

अक्सर 30 की उम्र पार करते ही लड़कियों पर घर वाले शादी का बहुत ज्यादा दबाव बनाने लगते हैं. शादी में अगर थोड़ी सी देरी हो जाए तो घर वालों के साथ-साथ आसपास के लोगों को भी आपकी शादी की चिंता होने लगती है.

कुछ ऐसा ही हुआ युगांडा की एक लड़की के साथ. यहां की एक सिंगल महिला शादी के सवालों से इतना परेशान हो गई कि उसने एक अनोखा कदम उठा लिया.

वह इन सबसे इतना ज्यादा तंग आ चुकी थी कि उसने खुद से ही शादी करने का फैसला कर लिया. ऑक्सफोर्ड स्टूडेंट लुलु जेमिमाह की उम्र 32 साल है. लुलु के घर वाले लगातार उसे एक सही इंसान के साथ शादी के बंधन में बंधन की सलाह दे रहे थे.

लेकिन लुलु के दिमाग में शादी सबसे आखिर में आने वाली चीज थी क्योंकि वह वर्तमान में एक प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी में क्रिएटिव राइटिंग में मास्टर्स की डिग्री कर रही है.

अपने पैरेंट्स की जिद से पीछा छुड़ाने के लिए लुलु ने एक मॉक वेडिंग की और अपने खास दोस्तों और परिजनों को आमंत्रित भी किया.

लुलु ने एक ड्रेस किराए पर ली और वेडिंग वेन्यू पर पहुंच गई. लुलु ने मेहमानों के सामने दूल्हे की कमी पर एक भाषण भी दिया.

लुलु स्वीकार करती हैं कि उनके युगांडियन पैरेंट्स उनके निर्णय से बहुत ज्यादा हैरान हो गए थे लेकिन वह कहती हैं कि उनकी सबसे ज्यादा प्रतिबद्धता अपने लिए और अपनी पढ़ाई के लिए है.

वह बताती हैं कि पूरे दिन का खर्च केवल 188 रुपए ही आया क्योंकि उन्हें बस पब वेन्यू तक पहुंचने में पैसे खर्च करने पड़े. बाकी का खर्च दोस्तों या तोहफों से मैनेज हो गया.

लुलु ने कहा, मुझे अपनी जिंदगी से बहुत लगाव है और मैं एकैडैमिक बनने के अपने सपने को पूरा करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हूं.

लेकिन मेरे परिवार के पास बस एक ही सवाल होता था कि मैं शादी कब कर रही हूं. पूरे युगांडा में शादी ही सबसे अहम चीज है. इसके बाद लोगों को यह चिंता होती कि मैं बच्चे कब पैदा करूंगी और परिवार कब शुरू करूंगी.

जब मैं 16 वर्ष की थी तभी मेरे पिता ने मेरी वेडिंग स्पीच लिख ली थी. हर बर्थडे पर मेरी मां ने मेरे लिए दुआएं कीं और पिछले कुछ सालों से उनकी प्रार्थनाओं में एक अच्छे पति की गुहार भी शामिल हो गई थी.

लुलु इससे पहले फ्रीलांस जर्नलिस्ट और इंटरनैशनल ऑर्गैनाइजेशन फॉर माइग्रेशन के कम्युनिकेशन्स कंसल्टेंट के तौर पर काम कर चुकी हैं.

2013 में लुलु ने ऑस्ट्रेलिया की मैक्वेयर यूनिवर्सिटी से बीए मीडिया (फिल्म) की डिग्री ली और इसके बाद लुलु ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में मास्टर्स के लिए आवेदन किया था.

लुलु ने कहा कि मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि ऑक्सफोर्ड में मेरा चयन हो गया है. मुझे अभी तक उस बात का यकीन नहीं होता है.

लेकिन दुख की बात ये थी कि इतनी बड़ी सफलता के बाद भी उनके पैरेंट्स को बस यही चिंता सता रही थी कि वह बॉयफ्रेंड कब बनाएगी और शादी कब करेगी.

लुलु अगस्त में युगांडा में अपने घर आई हुई थी और अपने बर्थडे के जश्न की तैयारियां कर रही थी. लुलु ने मजाक में कहा कि इस बार वो बर्थडे पर वेडिंग ड्रेस में जाएंगी.

लुलु अपने दोस्त से शादी के प्रेशर के बारे में बात कर रही थी तभी उसकी दोस्त ने वेडिंग गाउन खरीदने की सलाह दी.
तभी मैंने फैसला किया कि मैं खुद से ही शादी कर लूंगी. लुलु ने बहुत कम समय में 32वें जन्मदिन पर एक सेरेमनी का आयोजन किया.

उसकी एक वेब डिजाइनर दोस्त ने शादी के आमंत्रण पत्र छाप दिए और एक दोस्त ने ड्रेस किराए पर लेने के पैसे दे दिए. जबकि उसके भाई ने केक तैयार करने की जिम्मेदारी संभाली.

जब लुलु ने लोगों को शादी के लिए निमंत्रित किया तो लोग पूछने लगे कि दूल्हा कौन है तो लुलु ने बताया कि यह एक सरप्राइज होगा.वह बताती हैं, वेडिंग ड्रेस ट्राइ करना और खुद को ये समझाना कि मैं खुद से शादी कर रही हूं, थोड़ा पागल करने वाला अनुभव था.

मेरा आईडी कार्ड शॉप पर छूट गया था और जब उन लोगों ने देखा कि मैं ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट हूं तो वे मुझसे बहुत प्रभावित हो गए.

लुलु ने बताया, मुझे यह सोचकर अजीब लग रहा था कि मेरी शादी में कोई दूल्हा ही नहीं होगा. लुलु ने शादी में 30 मेहमानों के सामने खुद ही पति-पत्नी की प्रतिज्ञाएं भी दोहराईं.

उन्होंने बताया, शादी प्यार और कमिटमेंट का नाम है, लेकिन कई लोगों के लिए आज भी शादी महिला की आर्थिक सुरक्षा की गारंटी है. मुझे मूर्खों की तरह शादी में अकेले जाना अजीब लग रहा था लेकिन मेरे दोस्तों ने मेरा बहुत साथ दिया.

लुलु के पैरेंट्स इसमें शरीक नहीं हुए. लेकिन वह अपने पैरेंट्स को समझाने के लिए उनके पास गई. लुलु ने जब अपनी मां को बताया तो वह काफी कंफ्यूज और दुखी हो गई थी जबकि पिता अभी तक नाराज हैं और चुप्पी साध रखी है.

फिलहाल वह अपने ट्यूशन के लिए क्राउडफंडिंग कर रही हैं. उन्होंने स्कॉलरशिप, ग्रांटस् के लिए कोशिशें कीं, लोन भी लेना चाहा लेकिन कोई कोशिश सफल नहीं हो पाई.

279 लोगों की मदद से लुलु ने अपने पहले वर्ष की पढ़ाई पूरी कर ली है और उन्हें उम्मीद है कि वह दूसरे वर्ष की पढ़ाई के लिए भी क्राउडफंडिंग कर लेंगी. लुलु ने GoFundMe पर फंडिंग के लिए अपील की है.

 

Summary
Review Date
Reviewed Item
शादी के दबाव के चलते लड़की ने उठाया अनोखा कदम, जाने क्या हुआ ?
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags