निगम के दूषित पानी के कारण पीलिया से फिर एक की मौत

कोरबा। छत्तीसगढ़ में पीलिया का कहर अभी तक थम नहीं है और आज उसने एक व्यक्ति को अपना ग्रास बना लिया। दो तीन माह से कोरबा नगर पालिक निगम क्षेत्र में पीलिया से अनेक लोग बीमार पड़े और काल कवलित हो गए इस कड़ी में आज हीरा जैसवानी उम्र 57 वर्ष और जुड़ गया।

लगभग 1 सप्ताह से पीलिया से पीड़ित हीरा जैसवानी का इलाज पहले कोरबा में चला उसके बाद उसे रायपुर और नागपुर ले जाया गया। पीलिया का प्रसार इतना अधिक होता चला गया था कि अंतत: पीलिया में उसे अपना ग्रास बना लिया।
विगत कुछ समय से नगर पालिक निगम कोरबा क्षेत्र के सभी वार्डों में पीलिया बीमारी से ग्रसित अनेक लोगों का इलाज चलता रहा है इसे स्वास्थ्य विभाग ने भी संज्ञान लिया और वार्डों में कैंप लगाया गए लोगों को अस्पताल में भर्ती करके इलाज भी चलता रहा।

इसका प्रमुख कारण यह बताया जा रहा है कि निगम के द्वारा जो पानी प्रदाय किया जा रहा है ।वह सफाई नहीं होने के कारण दूषित होता चला गया है। और यही पानी निगम के पानी टंकियों द्वारा वर्तमान में शहर मे प्रदान किया जा रहा है।clipper28 ने इस संदर्भ में नगर निगम के पानी टंकियों के साफ-सफाई की भी जानकारी ली बताया जा रहा है कि पानी टंकियों की सफाई भी लंबे समय से नही हो रही है और यही पानी सप्लाई जारी है जिसके कारण पीलिया जैसी अनेक बीमारियां फैल रही हैं।

नगर निगम इस संदर्भ में उदासीन है और पानी टंकियों की सफाई में कोताही बरती जा रही है। मृतक हीरा जैसवानी कोरबा के उषा कांप्लेक्स में रेडीमेड की एक छोटी सी दुकान का संचालन कर रहा था विगत कुछ समय से वह अहमदाबाद गुजरात से कोरबा में आकर व्यापार कर रहा था और रामसागरपारा नगर निगम के वार्ड क्रमांक एक में सपरिवारि निवास करता था.

कुछ दिनों पूर्व पीलिया के कारण उसे कोरबा के एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था यहां से इलाज चलता रहा और डॉक्टर बीमारी को काबू में नहीं पा सके अन्यथा उसे रायपुर रेफर कर दिया गया था जहां से उसे नागपुर इलाज हेतु रिफर किया गया मगर आज उस के निधन की खबर उनके परिजनों को मिली है और उसका शव लाया जा रहा है।

Back to top button