दहेज प्रताड़ना के कारण रुकी बेटी की तय हुई शादी, पिता ने की सीतापुर पुलिस से इसकी शिकायत

रोशन सोनी

सीतापुर। सीतापुर थाना क्षेत्र के ग्राम गुतुरमा में दहेज प्रताड़ना का शर्मसार करने वाला घटने का बड़ा मामला सामने आया है ।आपको बता दे कि हमारें समाज मे आज भी दहेज प्रताड़ना जैसी चीजें देखने को मिलती है जो बिल्कुल गलत है कानून के अनुसार दहेज लेना और देना दोनों अपराध है।

ज्ञात हो कि दहेज प्रताड़ना के खिलाफ शक्त कानून भी बनाएँ गए है। सीतापुर पुलिस के मुताबिक विष्णु गुप्ता पिता स्व.अम्बिका साव निवासी गुतुरमा के द्वारा थाना आकर शिकायत किया गया कि उन्हें दहेज हेतु प्रताड़ित किया जा रहा है जिससे वह अत्यधिक परेशान है।

सीतापुर पुलिस ने बताया कि प्रार्थी विष्णु गुप्ता गुतुरमा निवासी ने अपनी बेटी का विवाह कांसाबेल बानियापारा निवासी शांता गुप्ता के यहाँ नितेश गुप्ता से तय किया था। वधु पक्ष के द्वारा वर पक्ष को दहेज के रूप में लगभग 2.5 लाख दिया गया था और विवाह तय हो गया था जब विवाह का समय नजदीक आया तब प्रार्थी विष्णु गुप्ता से वर पक्ष से और पैसे का माँग किया गया तब वधु पक्ष ने हैसियत न होने के कारण और राशि देने से इंकार कर दिया जिससे वर पक्ष ने वधु पक्ष से विवाह तोड़ दिया गया।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक दहेज प्रताड़ना के कारण जब विवाह टूट गया तब प्रार्थी विष्णु गुप्ता ने अपने दिए हुए दहेज के पैसे को माँगा तब वर पक्ष के द्वारा लगभग 90000 दिया गया और वर पक्ष ने पैसे लौटने से साफ इंकार कर दिया।

गुतुरमा निवासी प्रार्थी विष्णु गुप्ता ने दहेज प्रताड़ना से तंग आकर सीतापुर पुलिस से इसकी शिकायत की और प्रार्थी ने कांसाबेल बानियापारा निवासी शांता गुप्ता,कुमारी रीना गुप्ता,सुलेखा गुप्ता,बालकिशोर गुप्ता,नितेश गुप्ता के ऊपर दहेज प्रताड़ना का गंभीर आरोप लगाया है।

सीतापुर पुलिस ने इस मामले में कांसाबेल बानियापारा निवासी वर पक्ष के खिलाफ दहेज प्रताड़ना एक्ट 3,4 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया है।

Back to top button