छत्तीसगढ़

चिंतामणि महाराज को ज्ञापन सौंपकर विधिवत अपनी समस्या को कराया अवगत

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बलरामपुर अतिथि शिक्षकों ने माननीय चिंतामणि महाराज को ज्ञापन सौंपकर विधिवत अपनी समस्या को अवगत कराया. उसके बाद मानी चिंतामणि महाराज जी जो अभी वर्तमान में संसदीय सचिव पद पर सुशोभित हुए हैं. उन्होंने विधिवत हर एक लेटर को पढ़ा और सारी समस्या सुनने के बाद उन्हें उन्होंने हर एक प्रश्न का जवाब दिया.

सर्वप्रथम उनसे प्रश्न किया गया कि महाराज जी हम सभी विगत 5 वर्षों से बीहड़ क्षेत्र में अपना योगदान दे रहे हैं और अपनी सरकार की घोषणा पत्र के अनुसार हम सभी अतिथि शिक्षकों को 10 दिन में नियमितीकरण करने की बात कही गई थी लेकिन आज विगत 2 वर्षों से ऐसा नहीं हो पाया तो उन्होंने इस प्रश्न के जवाब में बोले कि आप सभी के नियमितीकरण की बात चल रही है और मैं जरूर सीएम से बात करूंगा.

इस मुद्दे पर उन्होंने पूछा कि आप सभी बलरामपुर में कितने लोग अतिथि शिक्षक लगभग संख्या कितनी होगी तो हम लोगों के द्वारा 240 संख्या बताई गई उसके बाद उन्होंने बोला ठीक है मैं नियमितीकरण करने के लिए भरसक प्रयास करूंगा और आप लोगों को नियमितीकरण कराकर ही दम लूंगा.

दूसरा प्रश्न था वेतन विसंगति को लेकर हम सभी ने महाराज जी से मार्च से पेमेंट ना मिलने की बात कही और यह भी बात कही कि सभी प्राइवेट संस्थानों में लॉकडाउन के दौरान भी प्राइवेट कर्मचारियों को वेतन दिया जा रहा है और हम सभी साथी शासकीय विद्यालय में अतिथि शिक्षक के रूप में पदस्थ होने के बावजूद भी मार्च तक से हम लोगों का पेमेंट नहीं मिला है.

उन्होंने कहा कि नहीं आप सभी का पेमेंट अवश्य करूंगा पेमेंट के लिए निश्चिंत रहें यह हमारी जिम्मेदारी है आप लोग हमारे क्षेत्र में सेवा दे रहे हैं. तीसरा प्रश्न है कि समस्त शासकीय शाला में सभी शिक्षकों को ऑनलाइन क्लास लेने के लिए आदेश जारी हुआ है लेकिन हम जो मेन विषय के शिक्षक हैं गणित विज्ञान अंग्रेजी विषय के शिक्षकों को ऑनलाइन क्लास लेने की अनुमति और हमारे बच्चे हम बार-बार फोन करके बोल रहे हैं सर आप लोग नहीं पढ़ा रहे हैं मेन सब्जेक्ट का ऑनलाइन क्लास समझ में नहीं आ रहा है आप लोग बताइए सर प्लीज तो बताइए महाराज जी हम लोग क्या जवाब दें बच्चों का दर्द सहा नहीं जा रहा है.

महाराज जी बोले कि मैं इस विषय को भी प्रमुख से संज्ञान में लूंगा आप सभी निश्चिंत रहें आप लोगों की हर समस्या का समाधान होगा उसके बाद वह हम दो लोगों का मोबाइल नंबर भी लिए और बोले कि हम आप लोगों से जो भी और बातें होंगी करते रहेंगे आप लोग मुझे सीधे संपर्क करते हैं अपनी समस्याओं से भी अवगत कराएं हम हमेशा आप लोगों के साथ रहेंगे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button