दुर्ग : स्लम एरिया में भी पहुँच रही मोबाइल मेडिकल यूनिट, अस्पतालों तक आने की दिक्कत से छुटकारा

मेहनतकश लोगों की सुबह से शाम काम में निकल जाती है और कुछ तकलीफ होने पर अस्पताल तक पहुंचने का वक्त भी नहीं जुटा पाते।

दुर्ग 16 सितंबर 2021 : मेहनतकश लोगों की सुबह से शाम काम में निकल जाती है और कुछ तकलीफ होने पर अस्पताल तक पहुंचने का वक्त भी नहीं जुटा पाते। इनकी चिंताओं से सरोकार रखती हुई मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने इनके मोहल्ले में ही मोबाइल मेडिकल यूनिट पहुंचाने की व्यवस्था की। इन मोबाइल मेडिकल यूनिटों का शुभारंभ मुख्यमंत्री महोदय द्वारा 1 नवंबर 2020 से आरंभ किया गया। इस मोबाइल मेडिकल यूनिट में चिकित्सक के साथ ही पूरा स्टाफ भी रहता है और लैब टेस्ट की सुविधा भी होती है।

इसका बहुत अच्छा असर हुआ। अस्पतालों में ओपीडी घटी और डाक्टरों को अपने मरीजों को देखने के लिए अधिक समय मिल पाया। मोबाइल मेडिकल यूनिट्स में टेस्ट की सुविधा होने की वजह से मौके पर ही समस्या के बारे में पता चल जाता है और डाक्टर इलाज के संबंध में उचित निर्णय ले लेते हैं। इन यूनिटों के माध्यम से कुछ मरीजों की बीमारी आरंभिक स्टेज में ही पता चल गई जिससे इनका उपचार शुरू हो गया और अब वे पूरी तरह स्वस्थ हैं।

डेढ़ लाख से अधिक मरीजों का हो चुका इलाज- एमएमयू के माध्यम से अब तक 2631 कैंप लगाये जा चुके हैं। इनमें डेढ़ लाख से अधिक मरीजों का इलाज किया जा चुका है। हर दिन औसत रूप से 58 मरीजों का इलाज एमएमयू के माध्यम से होता है। लगभग 30 हजार टेस्ट अब तक किये जा चुके हैं। मौसमी बीमारियों जैसे डेंगू, पीलिया, मलेरिया आदि के टेस्ट की सुविधा भी यहां है। जिले में कुल 9 एमएमयू संचालित हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button