प्रैग्नेंसी के दौरान इन छोटी-मोटी प्रॉबल्म से रहना है दूर तो पीएं जीरे का पानी

प्रैग्नेंसी के दौरान

प्रैग्नेंसी में जितना जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर खाना होता है, उतना ही जरूरी है नियमित पर्याप्त मात्रा में पानी पीना।

प्रैग्नेंसी के दौरान मां को न केवल अपनी बल्कि शिशु की सेहत पर भी खास ध्यान देना चाहिए।

पोषक तत्वों डाइट और रुटीन लाइफ में कुछ बदलाव करने चाहिए। कहा जाता है कि प्रैग्नेंसी में महिला जो कुछ भी खाती है, वह सब पेट में पल रहे शिशु को लगता है।

पानी न केवल शरीर के अंदर जमा टॉक्सिक पदार्थों को बाहर निकालता है बल्कि यूटीआइ जैसे संक्रमण से भी बचाता है।

इसके अलावा प्रैग्नेंसी भरपूर जीरे का पानी पीने की भी सलाह दी जाती है। जीरे का पानी मां और बच्चे दोनों के ही लिए बहुत फायदेमंद है। आइए जानते है इनके फायदे।

1. खून की कमी

प्रैग्नेंसी के दौरान अक्सर कुछ महिलाओं में खून की कमी हो जाती है। ऐसे में जीरे का पानी पीने से काफी फायदा मिलता है। दरअसल, जीरे का पानी पीने से शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता और शरीर में आयरन की मात्रा संतुलित होती हैं।

2.ब्लड प्रेशर कंट्रोल

अगर प्रैग्नेंसी के दौरान आपको ब्लड प्रैशर घटता या बढ़ता है तो जीरे का पानी पीएं। जीरे में पोटेशियम भरपूर होता है, जिससे ब्लड प्रैशन कंट्रोल में रहता हैं।

3. रोग प्रतिरोधक क्षमता

जीरे के पानी में आयरन, पोटेशियम, विटामिन ए, सी भरपूर होता हैं जिसे पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

4.कब्ज और एसिडिटी

प्रैग्नेंसी के दौरान अधिकतर महिलाओं में ये दिक्कत देखने को मिलती हैं। अगर नियमित एक अंतराल के बाद जीरे का पानी पीया जाए तो पेट में गैस कम बनती है और खाना असानी से डाइजेस्ट हो जाता हैं।

5. मतली आना

अगर आपको प्रैग्नेंसी के दौरान मॉर्निंग सिकनेस या मितली की समस्या है तो जीरे का पानी काफी फायदेमंद है। जीरे के पाउडर को 1 गिलास पानी में मिलाए। फिर इसमें सेंधा नमक और नींबू का रस मिलाकर पीएं। इससे मितली से राहत मिलेगी।

<>

Back to top button