तिमाही नतीजों, वृहद आंकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

नई दिल्लीः एच.डी.एफ.सी. तथा कोटक महिंद्रा बैंक जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों तथा कच्चे तेल की कीमतों, वृहद आर्थिक आंकड़ों और रुपए के उतार-चढ़ाव से इस सप्ताह शेयर बाजार की दिशा तय होगी। शेयर बाजार मंगलवार को ‘महाराष्ट्र दिवस’ के मौके पर बंद रहेंगे।

जियोजित फाइनेंशियल र्सिवसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ”तिमाही नतीजे और आगामी विधानसभा चुनाव से बाजार की दिशा तय होगी। इसके अलावा घरेलू मोर्चे पर निवेशकों को कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी और रुपए के उतार-चढ़ाव पर निगाह रखनी होगी। वहीं दूसरी ओर निजी क्षेत्र के बैंकों तथा आईटी कंपनियों के तिमाही नतीजे अभी तक बेहतर रहे हैं।”

नायर ने कहा कि वैश्विक बाजार की धारणा अमेरिका के ‘फेडरल ओपन मार्केट कमिटी’ (एफओएमसी) की बैठक पर निर्भर करेगी। दो दिन की यह बैठक एक मई को शुरू होगी। इसके अलावा बाजारा की दिशा इस सप्ताह आने वाले विनिर्माण और सेवा क्षेत्र के पीएमआई आंकड़ों पर भी निर्भर करेगी। कोटक सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष पीसीजी रिसर्च संजीव जरबादे ने कहा, ”आगे चलकर कंपनियों के तिमाही नतीजों, बांड प्राप्ति, कच्चे तेल के दाम बाजार का रुख तय करेंगे। आईटी कंपनियों तथा कुछ बैंकों के उम्मीद से बेहतर नतीजों से अभी बाजार की धारणा मजबूत है।” इस सप्ताह एचडीएफसी, कोटक महिंद्रा बैंक, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, हीरो मोटोकार्प, टाटा पावर, अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन, अडाणी पावर और बैंक आफ महाराष्ट्र के तिमाही नतीजे आने हैं।

सोमवार को रिलायंस इंडस्ट्रीय के शेयर भी आकर्षण का केंद्र रहेंगे क्योंकि कंपनी के नतीजे शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद आए थे। सैमको सिक्योरिटीज के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत मोदी का कहना है कि बाजार का आगे का रुख मई मध्य में होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव पर निर्भर करेगा। चुनाव नतीजों से बाजार किसी भी ओर जा सकता है। मासिक बिक्री आंकड़ों की वजह से वाहन कंपनियों के शेयरों पर भी सभी की निगाह होगी। बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 554.12 अंक या 1.61 प्रतिशत चढ़कर 34,969.70 अंक पर पहुंच गया।

Back to top button