धर्म/अध्यात्म

ईस्टर 2018 : जाने क्यों ईस्टर होता हैं खास

इस पर्व को ईस्टर काल या The Easter Season भी कहा जाता है, क्योंकि ईस्टर से 40 दिनों तक ईसा मसीह धरती पर रहे थे. इस ईस्टर सीजन को पूरे 40 दिन सेलिब्रेट किया जाता है. लेकिन आधिकारिक तौर पर ये 50 दिनों तक चलता है.

आज दुनियाभर में ईस्टर मनाया जा रहा हैं , यह ईसाइयों का एक और प्रमुख त्योहार है जिसे गुड फ्राइडे के तीसरे तीन यानी रविवार को मनाया जाता है.

माना जाता है कि इस दिन ईसा मसीह का पुर्नजन्म हुआ था और और वो एक बार फिर से अपने शिष्यों के साथ रहने लगे थे, लेकिन सिर्फ 40 दिनों के लिए, इसके बाद वो हमेशा के लिए स्वर्ग चले गए थे.
इसीलिए ईस्टर को मृतोत्थान दिवस या मृतोत्थान रविवार भी कहते हैं. इस बार ईस्टर 1 अप्रैल को है. यहां जानें ईसाइयों के इस त्योहार से जुड़ी कुछ खास बातें.

1. इस पर्व को ईस्टर काल या The Easter Season भी कहा जाता है, क्योंकि ईस्टर से 40 दिनों तक ईसा मसीह धरती पर रहे थे. इस ईस्टर सीजन को पूरे 40 दिन सेलिब्रेट किया जाता है. लेकिन आधिकारिक तौर पर ये 50 दिनों तक चलता है.

2. इस पूरे 40 से 50 दिनों के दौरान फास्ट, प्रेयर और प्रायच्छित किया जाता है.
3. ईस्टर के दौरान यीशु के सामने असंख्य मोमबत्तियां जलाई जाती है. इन मोमबत्तियां को घरों में जलाना शुभ माना जाता है.
4. ईस्टर के एक रात पहले कलरफुल अंडों को घर में छिपा दिया जाता है, जिसे अगली सुबह बच्चे ढूंढते हैं.

5. ईस्टर के दिन अंडे की आकार के चॉकलेट, खरगोश और मार्शमेलो गिफ्ट में दी जाती हैं.
6. ईस्टर को खजूर इतवार भी कहा जाता है.
टिप्पणिया7. ईस्टर के दिन सबसे पहले सुबह महिलाएं ही प्रेयर करती हैं.

8. ईस्टर में एक-दूसरे को गिफ्ट दिए जाने वाले अंडों को लेकर माना जाता है कि इसे उत्सव, अच्छे दिनों की शुरुआत और उन्नति के तौर पर देखा जाता है.

माना जाता है कि जिस तरह एक चिड़िया अपने घोंसले में अंडा देती है फिर उसमें से चूजा निकलता है, इससे नए जीवन और उमंग की शुरुआत होती है. ठीक ऐसे ही यीशु ने भी पृथ्वी पर जन्म लेकर शुभ और शांति का संदेश दिया था.

Summary
Review Date
Reviewed Item
ईस्टर 2018 : जाने क्यों ईस्टर होता हैं खास
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *