राष्ट्रीय

माल्या मामले में और सबूत सौंपने के लिए ईडी और सीबीआई की टीम पहुंची लंदन

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का एक संयुक्त दल भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर काम कर रहे ब्रिटिश अभियोजन से बात करने और उन्हें इस मामले में ताजा सबूत सौंपने के लिए लंदन में हैं।

माल्या जांच दल में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दोनों केन्द्रीय जांच एजेंसियों के भ्रमणकारी अधिकारी मुंबई में पिछले महीने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दायर आरोपपत्र भी सौंपेगे। अधिकारी ने कहा कि भारतीय जांचकर्ता क्राउन प्रोसीक्यूशन सर्विस (सीपीएस) के अधिकारियों को ईडी आरोपपत्र की सामग्री और सबूत के बारे में बताएंगे। कुछ अन्य कानूनी विषयों पर भी चर्चा होगी। सीपीएस भारत सरकार की ओर से अदालत में दलीलें देगी।

अधिकारी ने कहा कि ईडी के कानूनी सलाहकार माल्या के खिलाफ लगे आरोपों, कुछ अन्य सबूतों, कुर्कियों और धन शोधन रोकथाम कानून की विभिन्न धाराओं के तहत दायर आरोपपत्र में मौजूद अन्य कानूनी बिन्दुओं के बारे में विस्तृत रूप से बताएंगे।

ईडी कुछ खास लेनदेन और फर्जी कंपनियों की जांच के लिए फ्रांस, सिंगापुर, मारिशस, आयरलैंड, अमेरिका और यूएई जैसे देशों से सहयोग मांगेगा। ईडी द्वारा दायर आरोपपत्र में नौ आरोपियों का नाम शामिल है जिसमें माल्या, किंगफिशर एयरलाइंस, यूनाइटेड ब्रेवरीज (होल्डिंग) लिमिटेड और अब भंग हो चुके एयरलाइन के वरिष्ठ कर्मचारी और अधिकारी तथा आईडीबीआई बैंक शामिल है।

किंगफिशर एयरलाइंस की करीब नौ हजार करोड़ रूपये की रिण चूक पर भारत में वांछित माल्या मार्च 2016 से ब्रिटेन में हैं और उन्हें 18 अप्रैल को प्रत्यर्पण वारंट पर स्काटलैंड यार्ड द्वारा गिरफ्तार किया गया था।

Tags
Back to top button