बिहार

बिहार टॉपर घोटाला मामले में मिली ईडी को बड़ी कामयाबी

बिहार टॉपर घोटाला मामले में ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय को बड़ी कामयाबी मिली है.

देश भर में पेपर लीक और परीक्षाओं को लेकर नए-नए ख़ुलासे हो रहे हैं वही चिंता बिहार टॉपर घोटाला मामले में ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय को बड़ी कामयाबी मिली है. ईडी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बिहार में चर्चित इंटर टॉपर्स घोटाले के मास्टरमाइंड और वैशाली के विशुनदेव राय कॉलेज के संचालक बच्चा राय की करीब साढ़े चार करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है.

बच्चा राय पर स्कूली बच्चों को टॉप कराने के नाम पर पैसे लेने का आरोप है. आरोप यह भी है कि इसी से उसने करोड़ों की संपत्तियां अर्जित की है. बताया जा रहा है कि बच्चा राय ने अपनी पत्नी और बच्चों के नाम पर भी संपत्तियां खरीदी है. ईडी द्वारा पूछताछ में बच्चा राय ने संपत्ति खरीदने के लिए लाए गए पैसों का स्रोत नहीं बताया है.

ईडी ने जिन संपत्तियों को जब्त किया है, उनमें हाजीपुर, भगवानपुर और महुआ के 29 प्लॉट शामिल हैं. इतना ही नहीं, हाजीपुर में स्थित उसके दो मंजिला मकान को भी अटैच किया गया है. साथ ही पटना का भी एक फ्लैट अटैच किया गया है. ईडी ने करीब 10 बैंक खातों को भी सीज किया है और उसके ट्रस्ट की जांच अभी जारी है. बता दें कि बच्चा राय अभी जेल में है.

गौरतलब है कि साल 2016 में बिहार में टॉपर घोटाला मामला सामने आया था. पुलिस ने बच्चा राय समेत बिहार सेकेंडरी एजुकेशन बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष लालकेशवर सिंह समेत चार कॉलेजों के प्रिंसिपलों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारियां की थीं. बच्चा राय की अंतरिम जमानत पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाई थी. इन पर पैसे ले कर अयोग्य बच्चों को टॉप कराने का आरोप है.

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *