आदिवासियों के सर्वांगीण विकास में शिक्षा महत्वपूर्ण कारक : विकास मरकाम

राज्यमंत्री मरकाम ने शासकीय स्कूल में किया निः शुल्क कॉपी वितरण

नगरी :

छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के उपाध्यक्ष(राज्यमंत्री दर्जा) विकास मरकाम ने सुदूर आदिवासी क्षेत्र डोंगरडुला, राजपुर

और करैया के शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल में जाकर पुण्योदय प्रकल्प के द्वारा निः शुल्क कॉपी वितरण किया।

इस अवसर पर उन्होंने स्कूली छात्र-छात्राओं का मार्गदर्शन करते हुये कहा कि आदिवासियों के पिछड़ेपन का प्रमुख कारण अशिक्षा है।

डॉ रमन सिंह के नेतृत्व में चल रही वर्तमान सरकार ने आदिवासी क्षेत्रों में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की है।

आज दंतेवाड़ा का जवांगा शिक्षा हब के रूप में विकसित हो चुका है जहां लगभग 5000 छात्र-छात्राएं आवासीय शिक्षा ग्रहण कर रहे है

वहीं दूसरी ओर एकलव्य विद्यालय और प्रयास विद्यालयों के माध्यम से आदिवासी क्षेत्र के बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए विशेष कोचिंग दिलवाने के काम भी सरकार कर रही है।

आदिवासियों के सर्वांगीण विकास के लिये शिक्षा महत्वपूर्ण कारक है।

इस अवसर पर उनके साथ नगरी जनपद के सदस्य मुकेश बघेल, सरपंच फुलेश्वरी नेताम और सरिता ध्रुव,

उपसरपंच प्रताप नारायण साहू और कृष्ण कुमार साहू, श्याम लाल साहू, लेखा राम साहू, लाला राम ध्रुव, देवानंद राजपूत,

दुखवा राम ध्रुव, ओमप्रकाश सेन, गिरधर सिंह वट्टी, घसिया राम वट्टी, उदय लाल सेन, लहर सिंह चंद्रवंशी सहित शाला परिवार के शिक्षक गण और छात्र-छात्राएं उपस्थित रहीं।

Back to top button