क्रिकेट

गंभीर ने किया है वो कारनामा, जो सचिन-सहवाग भी नहीं कर पाए

आज टीम इंडिया के बल्लेबाज गौतम गंभीर का जन्म दिन है और गंभीर आज 36 साल के हो गए हैं. गंभीर का जन्म 14 अक्टूबर 1981 को दिल्ली में हुआ था. भारतीय टीम के गंभीर ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनके नाम कई ऐसे रिकॉर्ड दर्ज हैं, जो कारनामे आजतक किसी भी खिलाड़ी ने नहीं किए हैं. गंभीर के बर्थडे पर जानते हैं उनसे जुड़ी कई दिलचस्प बातें, जो बहुत कम लोग जानते हैं…

गंभीर अपने क्रिकेट करियर के अलावा निजी जिंदगी की वजह से भी सुर्खियों में रहते हैं. हाल ही में उन्होंने एक शहीद की बेटी की पढ़ाई का खर्च उठाने का फैसला किया था, साथ ही कई बार वो भारतीय सेना और शहीदों को लेकर दिए गए बयान और ट्वीट को लेकर सुर्खियों में रहते हैं.

गंभीर ने भारत के साथ कई यादगार पारियां खेली हैं और खराब हालत में भी टीम को जीत दिलवाई है. टेस्ट में विरोधियों को परेशान करने वाले गंभीर को राहुल द्रविड़ के बाद टीम इंडिया की दूसरी दीवार भी कहा जाता है.

गंभीर ने वनडे, टी-20, टेस्ट और आईपीएल में अपनी उपयोगिता साबित की है. स्वभाव से शांत गंभीर जब क्रीज पर मौजूद होते हैं तो काफी आक्रामक हो जाते हैं.

28 अक्टूबर 2011 को गौतम गंभीर नताशा जैन के साथ शादी के बंधन में बंधे.

उन्होंने साल 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ मैच खेलते हुए अपने करियर की शुरुआत की थी, लेकिन 2013 के बाद उन्होंने कोई भी अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच नहीं खेला है.

फिलहाल गंभीर अंतरराष्ट्रीय मैचों से दूर हैं. उन्होंने 2016 में आखिरी टेस्ट और 2012 में आखिरी वन-डे मैच खेला था.

गंभीर ने वनडे में अपना पहला शतक श्रीलंका के खिलाफ 2005 में जड़ा. 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बार्डर गावस्कर ट्राफी के लिए गंभीर को टेस्ट में पदार्पण करने का मौका मिला.

आईपीएल में भी गंभीर का रिकॉर्ड अच्छा है, उन्होंने अपनी कप्तानी में आईपीएल टीम केकेआर को दो कप दिलवाए हैं. गौतम गंभीर को अर्जुन अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है.

गंभीर को 2007 विश्व कप टीम में शामिल किया गया, हालांकि टीम इंडिया पहले दौर से ही बाहर हो गई. इसके बाद इसी साल हुए टी-20 वर्ल्ड कप के लिए गंभीर को टीम में खेलने का मौका मिला.

फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ गंभीर की 75 रनों की तूफानी पारी ने भारत को खिताब दिला दिया. 2007-08 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीबी सीरीज में कंधे की चोट के चलते गंभीर को टीम से बाहर बैठना पड़ा. बाद में 2009 में गंभीर को आईसीसी ने बेस्ट टेस्ट क्रिकेटर के अवार्ड से नवाजा.

बता दें कि गंभीर एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 5 टेस्ट मैचों में लगातार शतक लगाए थे, फिर चाहे वह मैच की किसी भी पारी में लगा हो. इस मामले में कई रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके महान सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर भी गंभीर से पीछे हैं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
आईपीएल
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *