छत्तीसगढ़

लोगों में प्रेम, समानता और सौहार्द्र का संदेश देता है ईद-ए-मिलाद -राज्यपाल उइके

मिलाद-उन-नबी के अवसर पर राज्यपाल उइके ने प्रदेशवासियों को दी मुबारकबाद

रायपुर:मोहम्मद हजरत साहब की याद में ईद-ए-मिलाद (मिलाद-उन-नबी) मनाया जाता है. इस अवसर पर राज्यपाल अनुसुईया उइके ने प्रदेशवासियों को मुबारकबाद देते हुए मोहम्मद साहब का संदेश दिया.

राज्यपाल ने कहा है कि पैगम्बर हजरत मोहम्मद का जन्मदिन ईद-ए-मिलाद (मिलाद-उन-नबी) लोगों में प्रेम, समानता और सौहार्द्र का संदेश देता है. यह अवसर गरीबों और जरूरतमंदों की सेवा करने तथा समाज में व्याप्त विषमताओं को दूर कर एकरूपता स्थापित करने पर जोर देता है.

बता दें कि पैगंबर मोहम्मद हजरत साहब धार्मिक सहिष्णुता के पक्षधर थे, लिहाजा किसी भी किस्म के फ़साद जो सामाजिक सौहार्द के ताने-बाने को बिगाड़ता हो, उसे पसंद नहीं करते थे. मोहम्मद साहब अमन और सुकून के हिमायती थे और मानते थे कि समाज की ख़ुशहाली की इमारत बंधुत्व की बुनियाद पर ही निर्मित हो सकती है.

Tags
Back to top button