तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य के लिए आठ जोनल अधिकारी एवं 75 पोषक अधिकारी नियुक्त

जिले में इस वर्ष तेन्दूपत्ता संग्रहण का लक्ष्य 95 हजार 400 मानक बोरा

महासमुंद। जिले में 75 प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के 795 तेंदूपत्ता संग्रहण केन्द्रों में लगभग 95 हजार तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों द्वारा वर्ष 2019 के तेंदूपत्ता संग्रहण का कार्य एक मई से प्रारंभ किया जाएगा। जिला लघु वनोपज सहकारी संघ मर्यादित सामान्य वनमंडल महासमुंद के प्रबंध संचालक आलोक तिवारी ने बताया कि इस वर्ष तेंदूपत्ता संग्राहकों को तेंदूपत्ता संग्रहण की दर दो हजार 500 रूपए प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर चार हजार रूपए प्रति मानक बोरा किया गया है।

इस वर्ष जिले में संग्रहण लक्ष्य 95 हजार 400 मानक बोरा के आधार पर तेंदूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक की राशि 38 करोड़ 16 लाख का वितरण प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के माध्यम से तेंदूपत्ता संग्राहकों के बैंक खाता में सीधे किया जाएगा। जिले के अंर्तराज्यीय सीमा में तेंदूपत्ता की अवैध रोकथाम के लिए आठ उड़दस्ता दल का गठन किया गया है। जिन्हें कड़ाई से अवैध तेंदूपत्ता के संग्रहण को रोकने का निर्देश दिया गया है। तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य के सफल संपादन के लिए आठ जोनल अधिकारी, 75 पोषक अधिकारी एवं 795 संग्रहण केन्द्रों पर फड़ अभिरक्षकों की नियुक्ति की गई है।

छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ के कार्यकारी संचालक श्री अरूण पाण्डेय द्वारा 27 अपै्रल को बागबाहरा, पिथौरा, बसना एवं सरायपाली क्षेत्रों का निरीक्षण उपरांत परिक्षेत्र कार्यालय, पिथौरा में तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य की तैयारियों के संबंध में वनमंडलाधिकारी श्री आलोक तिवारी, उप प्रबंध संचालक श्री एस.एस. नाविक सहित महासमुंद, पिथौरा, बसना, सरायपाली एवं बागबाहरा परिक्षेत्र अधिकारी सहित अग्रिम अविक्रित 13 समितियों के समिति प्रबंधकों का बैठक लिया गया। अधिकारियों द्वारा तेंदूपत्ता शाखकर्तन उपरांत तैयार तेंदूपत्ता का अवलोकन किया गया।

संग्रहण केन्द्रों के पोषक, जोनल अधिकारियों, फड मुंशियों एवं तेंदूपत्ता संग्राहकों को केंवला पत्ता नहीं तोड़ने तथा अच्छी गुणवत्ता के तेंदूपत्ता तोड़ाई करवाने को कहा गया। समिति प्रबंधकों, पोषक अधिकारियों एवं फड़मुंशियों को फड़ों पर दीमक से बचाव के लिए कीटनाशक दवा का छिड़काव करने एवं संग्रहण कार्ड में प्रत्येक जानकारी जैसे संग्राहक का बैंक खाता की जानकारी, आधार कार्ड की जानकारी आदि का इंद्राज करने के निर्देश दिए गए। संग्रहित तेंदूपत्ता का परिदान अग्रिम नियुक्त क्रेता के प्रतिनिधि को 48 घंटे के भीतर करने को कहा। समिति प्रबंधकों को तेंदूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक की राशि संग्राहकों के बैंक खाता में शीघ्र हस्तांतरित करने के निर्देश दिए गए।

पाण्डेय द्वारा तेंदूपत्ता का भंडारण हेतु समस्त गोदामों के गोदाम प्रभारियों को भंडारण के पूर्व की तैयारी जैसे दीमक रोधी दवा का छिड़काव, अग्निशामक यंत्र का परीक्षण कर दुरूस्त रखने एवं रख-रखाव पर विशेष ध्यान तथा सुरक्षा श्रमिकों को तैनात करने हेतु परिक्षेत्र अधिकारियों को निर्देशित किया गया। प्राथमिक वनोपज समिति चारौदा एवं खल्लारी के कार्यालय का निरीक्षण कर समिति प्रबधकों को कार्यालय व्यवस्थित करने को निर्देशित किया गया।

तेंदूपत्ता संग्राहकों को जनकल्याणकारी योजनओं जैसे बीमा, छात्रवृत्ति, चरणपादुका आदि का लाभ प्राप्त करने के लिए प्रत्येक तेंदूपत्ता परिवार को कम से कम 500 गड्डी तेंदूपत्ता का संग्रहण करना अनिवार्य होगा। तेंदूपत्ता संग्राहक परिवार के मुखिया जिसकी आयु 18 से 50 वर्ष के बीच के आश्रित को जीवन ज्योति बीमा योजना के अतंर्गत सामान्य मृत्यु होने पर दो लाख रूपए एवं दुर्घटना से मृत्यु होने पर . चार लाख रूपए की सहयोग राशि मिलने संबंधी जानकारी दी गई।

Back to top button