छत्तीसगढ़

चुनाव आते ही मतदातों को लुभाने के काम जारी

- बालकृष्ण अग्रवाल

मरवाही विधानसभा में आदर्श आचार संहिता उलघंन किये जाने का मामला सामने आया है जिसमें पेंड्रा ब्लाक के अमरपुर गांव की महिला संरपच के द्वारा अपने घर से गांव के ग्रामीणों को मुख्यमंत्री आबादी पट्टा का वितरण किये गया।मामले की भनक जैसे ही कांग्रेसियों को लगी उन्होने मामले की शिकायत स्थानीय निर्वाचन अधिकारी से की है।

दरअसल पुरा मामला मरवाही विधानसभा के अमरपुर गांव का है जहां की महिला सरपंच सियावति मार्को के द्वारा आज अपने घर से मुख्यमंत्री आबादी पट्टा बाटे जाने की जानकारी गांव के कांग्रेसियों को लगी जिसके बाद कांग्रेसियों ने फोन पर ही आचार संहिता उल्लघंन किये जाने की शिकायत स्थानीय निर्वाचन अधिकारी को की हालाकि जैसे ही महिला सरपंच को अपने द्वारा पट्टे बाटने की शिकायत अधिकारियों से किये जाने की भनक लगी वैसे ही महिला सरपंच अपने घर के बाहर ताला लगाकर भाग गयी शिकायत करने वाले लोगों की माने तो गांव के कई लोगो को महिला सरपंच के द्वारा अपने ही घर से सुबह से ही मुख्यमंत्री आबादी पट्टा बाटा जा रहा है।

पट्टे में मुख्यमंत्री की तस्वीर के साथ स्लोगन भी लिखा गया है और आचार संहिता लगने के बाद ऐसा करना आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लघंन है। वही आबादी पट्टा जारी होने का दिनाक भी मार्च माह का है जिससे से चुनाव में लालच दिखाने का प्रयास किया जा रहा है।वही जिन लोगों को पट्टा दिया गया है उनकी माने तो उन्हे बुलाया गया तो वे लोग पट्टा लेने के लिये सरपच के घर गये जहां पर महिला सरपंच के द्वारा उन्हे पट्टा दिया गया है।वही इस पट्टा बाटने के मामले को अधिकारी गम्भीर बतला रहे है और कड़ी कार्यवाही किये जाने की बात कह रहे है। मरवाही कांग्रेस के प्रमोद परस्ते पूर्व न्यायाधीश ने कहा कि भाजपा ने आदर्श आचार संहिता का उलंघन किया हैं उसकी शिकायत हम चुनाव आयोग से करेंगे। भाजपा सत्ता का गलत इस्तमाल कर रही है वही कांग्रेस नेता शंकर पटेल ने कहा कि पट्टा पहले ही बन चुका था लेकिन जनता को लुभाने के लिए वो आदर्श आचार सहिंता का उल्लंघन कर रही है वही अधिकारियों की माने तो अगर पट्टा वितरण हुआ है तो वो गलत है जो भी नियमानुसार कार्यवाही होगी सरपंच के खिलाफ की जावेगी