मतदान की प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए निर्वाचन आयोग की पहल

-अभियान चलाकर दी जा रही ईव्हीएम मशीन तथा वीवी पेट मशीनों के उपयोग की जानकारी

जागेश्वर सिन्हा

बालोद :

राज्य के विधानसभा चुनाव में मतदान की प्रक्रिया को और विश्वसनीय तथा पारदर्शी बनाने के लिए निर्वाचन आयोग पहली बार ऐसी इलैक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों (ईव्हीएम) का प्रयोग करेगा जिसमें मतदाता अपने वोट भी देख सकेगा।राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले के ग्राम पंचयातो में मतदाताओं को ईव्हीएम मशीन तथा वीवी पेट मशीनों के उपयोग की जानकारी दी जा रही है।

बता दे कि साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में पहली बार वीवी पेट मशीन का प्रयोग किया जाएगा। निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव में प्रयोग होने वाली ईव्हीएम मशीनें पूरी तरह टैंपरप्रूफ तथा विश्वसनीय हैं। और इसी के अंतर्गत ग्राम भेजा मैदानी में मतदाताओं को जागरूक करने प्राथमिक शाला भवन में वीवी पेट का प्रदर्शन किया गया।

जहाँ ग्रामीण निर्वाचन आयोग के जागरूकता अभियान में शामिल होकर ईव्हीएम मशीनों की विश्वसनीयता को परखा । ग्राम पंचायत भेजामैंदानी के सचिव पन्नालाल सिन्हा ने कहा कि वीवी पेट (वोटर वैरीफाइबल पेपर ऑडिट ट्रेल) के नाम से जाना जाता है।

यह वीवी पेट मतदान केंद्र में मौजूद बीयू से कनेक्ट रहेगी। जैसे ही वोटर द्वारा उम्मीदवार के सामने वाले बटन को क्लिक किया जाएगा, तो इसके सात सेकंड के भीतर वीवी पेट मशीन पर एक पर्ची प्रदर्शित होगी, जिस पर उम्मीदवार का नाम व चुनाव चिन्ह अंकित होगा। इसके यह साबित होगा कि मतदाता द्वारा चुने गए व्यक्ति को ही मत दिया गया है।

Tags
Back to top button