चुनाव आयोग ने लांच की मार्क-3 ईवीएम मशीन

कर्नाटक विधानसभा चुनावों में किया जाएगा इस्तमाल

नई दिल्ली: चुनावों में ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ पर उठते सवालों के बीच चुनाव आयोग न्यू जेनरेशन ईवीएम मशीन को लांच कर दिया हैं. इस इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को “मार्क 3” नाम दिया गया है. बताया जा रहा हैं की इस नई ईवीएम मशीन का इस्तमाल कर्नाटक विधानसभा में किया जाएगा. चुनाव आयोग ने यह दावा किया है की मार्क-3 टेंपरिंग प्रूफ मशीन हैं.

चुनाव आयोग ने बताया की मार्क-3 ईवीएम मशीन में एक चिप लगी हुई हैं जिसमें सिर्फ एक ही बार सॉफ्टवेयर कोड लिखा जा सकता हैं. अगर मशीन से किसी भी प्रकार से छेड़छाड़ हुई तो मशीन खुद ही बंद हो जाएगी. और इस मशीन को इंटरनेट या किसी भी नेटवर्क से कंट्रोल नहीं किया जा सकता. मार्क-3 24 बैलेट यूनिट और 384 प्रत्याशियों की जानकारी रखी जा सकती है. इस मशीन को भारत की दो कंपनियां भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, बंगलूरु और इलेक्ट्रॉनिक्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, हैदराबाद में तैयार की जा रही हैं.

बता दें कि पिछले कुछ सालों में भाजपा को मिली जीत के बाद चुनाव आयोग और ईवीएम पर कई सवाल उठाए गए. चुनाव आयोग ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि ईवीएम सेफ है और कोई इसे हैक नहीं कर सकता है. इसके लिए हैकाथॉन कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया था लेकिन आरोप लगाने वाली किसी पार्टी ने इसमें हिस्सा नहीं लिया था. अब चुनाव आयोग ने कर्नाटक चुनाव से पहले ईवीएम का नया वर्जन लॉन्च किया है. मार्क-3 को पूरी तरह से सुरक्षित माना गया है.

Back to top button