दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार करने वाले कंप्यूटर बाबा को चुनाव आयोग का नोटिस

आयोग ने 24 घंटे के अंदर नोटिस का जवाब मांगा

भोपाल: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार करने वाले कम्प्यूटर बाबा के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत की है, भाजपा ने कम्प्यूटर बाबा पर धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया है।

जिसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार करने वाले कम्प्यूटर बाबा को चुनाव आयोग (EC) ने नोटिस जारी कर दिया है। आयोग ने 24 घंटे के अंदर नोटिस का जवाब मांगा है। इससे पहले दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार करने के बाद कंप्यूटर बाबा अचानक गायब हो गए थे।

दिग्विजय सिंह के साथ रोड शो

बुधवार को उन्होंने हजारों साधुओं का नेतृत्व करते हुए दिग्विजय सिंह के साथ रोड शो किया था। कंप्यूटर बाबा ने साधुओं के साथ मिलकर दिग्विजय सिंह के लिए बिना प्रशासन की इजाजत के हठयोग किया था। जिसकी शिकायत बीजेपी ने चुनाव आयोग से कर दी थी।

बीजेपी की शिकायत पर कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी सुदाम खाड़े ने हठ योग और धूनी मामले की जांच कर चुनाव आयोग को रिपोर्ट सौंपी, जिसके बाद आयोग ने उन्हें नोटिस जारी कर दिया।

दरअसल, बीते सप्ताह कम्प्यूटर बाबा ने दावा किया था कि भोपाल में भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर की हार होगी। वे कांग्रेस प्रत्याशी की जीत के लिए 7 हजार साधु-संतों के साथ हठयोग और तांत्रिक अनुष्ठान करेंगे। 7 मई को उन्होंने न्यू सैफिया कॉलेज ग्राउंड पर दिग्विजय सिंह की मौजूदगी में अनुष्ठान किया था। 8 मई को कम्प्यूटर बाबा ने पुराने भोपाल में दिग्विजय के समर्थन में रोड शो भी किया था।

बताया जा रहा है कि इसी जांच की वजह से शायद कंप्यूटर बाबा नजर नहीं आ रहे थे, हालांकि कंप्यूटर बाबा के समागम का आखिरी दिन भी गुरुवार को ही था और शुक्रवार को भोपाल सीट के लिए प्रचार का आखिरी दिन भी है। इसलिए अब वे कम सक्रिय नजर आ सकते हैं।

भाजपा ने निर्वाचन आयोग से की गई शिकायत में आरोप लगाया कि कम्प्यूटर बाबा ने अनुष्ठान में साधुओं को 11-11 हजार रुपए दिए हैं। इस आयोजन पर करीब 50 लाख रुपए खर्च हुए हैं। इसे कांग्रेस प्रत्याशी के चुनाव खर्च में जोड़ा जाए। भाजपा का आरोप था कि कम्प्यूटर बाबा ने इस आयोजन की अनुमति आयोग और कलेक्टर से नहीं ली थी। बताया जा रहा है कंप्यूटर बाबा अब नए भोपाल की एक होटल में हैं।

Back to top button