कागजों में बिजली और सड़क का कार्य पूरा, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और

रिपोर्टर प्रणव कुमार:

विकासखण्ड रामचन्द्रपुर का एक ऐसा गांव जहां के एक मुहल्ले में कागजों में तो बिजली और सड़क दोनों का कार्य पूरा हो चूका था लेकिन हकीकत कुछ और ही था। साथियों हम बात कर रहे हैं ग्राम पंचायत मरमा के मुहल्ला ढोंढ़ीपारा की।

गांव के कुछ तथाकथित अपने आप को नेता मानने वाले लोग जो सीना पिट- पिट कर विकास की जो दुहाई देते हैं उनके लिए ये बहुत ही शर्मिंदगी की बात है कि ऐसे लोग सिर्फ और सिर्फ कागजों में ही काम कराते हैं लेकिन सच्चाई कुछ और ही होता है।

मित्रों मरमा पंचायत का यही ढोंढीपारा है जहां पंचायत द्वारा बिजली आपूर्ती की एनओसी दे दिया गया था और घर-घर बिजली पहुँच चुकी है कागजों में खानापूर्ति कर के यह साबित भी किया जा चूका था। और बात रही सड़की की तो सड़क का भी कुछ हाल इसी प्रकार से नजर आता है।

लेकिन हमारे क्षेत्र नवाडीह के युवा साथी पत्रकार और समाज सेवी संतोष यादव के अथक प्रयास से अब मरमा गांव के ढोंढ़ीपारा में दिनांक 26/11/2019 से बिजली खम्भे लगने शुरू हो गए हैं तथा खम्भा लगते ही तार खीचने का भी काम शुरू कर दिया जाएगा।

अगर बात करे सड़क का तो लोगों को साइकिल लेकर भी चल पाना मुश्किल होता है। लेकिन दिनांक 27/11/2019 से सड़क मरम्मती का भी काम शुरू हो गया है। सन्तोष यादव द्वारा ऐसे ही कार्य कराते रहने से क्षेत्र के आमजनों के लिए एक बड़ी उम्मीद के रूप में उभरकर सामने आये हैं।

सन्तोष यादव जी का एक मिशन ये भी है कि आने वाले पांच वर्षों में क्षेत्र का ऐसा कोई भी पंचायत नही होगा जहां के लोग बिजली,पानी तथा सड़क से वंचित रहेगा।

Back to top button