विद्युत विभाग हुआ नियत्रण विहीन – धरमलाल कौशिक

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया है कि ऊर्जा विभाग नियत्रंण विहिन हो गया है। परिणाम स्वरूप पूरे प्रदेश में विद्युत व्यवस्था को लेकर अराजक स्थिति निर्मित हो गई है। प्रदेशवासी जगह-जगह आंदोलन कर रहे है व भीषण गर्मी में बिजली उपलब्ध नही होने से पूरे प्रदेश में त्राहिमाम है। भीषण गर्मी में प्रदेश के 15 जिलों मे प्रमुखतः रायपुर, दुर्ग, बालौद, बेमेतरा, कवर्धा व बस्तर संभाग के सभी जिलों में बिजली ठप होने के कारण ब्लेक आउट की स्थिति निर्मित हो गई है। विभाग मे अराजकता का ऐसा माहौल है कि प्रदेशवासी जब बिजली दफ्तर पर फोन लगा रहे थे तो रिस्पॉस नही मिल रहा था। परिणाम स्वरूप आधी रात को बिजली विभाग का घेराव किया गया तब जाकर बिजली विभाग के अधिकारियों की आंखे खुली। प्रदेश की जनता में इतना आक्रोश था कि कई स्थानांे में विवाद की स्थिति निर्मित हुई परिणाम स्वरूप कानून व्यवस्था भी बिगड़ी। इसका प्रमुख कारण बिजली विभाग के द्वारा त्वरित कार्यवाही न करना है साथ ही विभागीय संधारण पर भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

एक ओर कांग्रेस सरकार कहती है कि हमने बिजली बिल हाफ कर दिया है। वही लाखों लोगों को पुराना बकाया के नाम पर बेवजह उसका लाभ नही दिया जा रहा है वही बिजली की सप्लाई भी हाफ कर दी गई है। 15 वर्ष में पहली बार ऐसा हुआ है कि विद्युत विभाग के निष्क्रियता के कारण जगह जगह आंदोलन हो रहे है। विगत दिनों शर्मनाक स्थिति तब आई जब गरियाबंद, मैनपुर, देवभोग के ग्रामीणों ने आंदोलन किया क्योंकि वहां पर 8 से 10 घंटे की बिजली की कटौती की जा रही है जबकि पडोसी राज्य उड़िसा के गांव में भरपूर बिजली की उपलब्धता के कारण प्रदेश की छवि बिगड़ी। श्री कौशिक ने कहा कि श्री भूपेश बघेल जी को विभाग पर अपनी पकड़ बनानी चाहिए और आम जनता को बिजली कटौती से राहत दिलाना चाहिए यदि शीघ्र कटौती समाप्त नहीं की जाती है तो प्रदेश स्तर पर बड़ा आंदोलन किया जावेगा।

Back to top button