हाथी-कुत्तों का उत्पात एवं नक्सली आतंक बदस्तूर जारी: रिजवी

सरकार पर लगाया नाकामी का आरोप

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे.) के मीडिया प्रमुख इकबाल अहमद रिवजी ने कहा है कि प्रदेश के कुछ इलाकों में जंगली हाथियों एवं आवारा कुत्तों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है

तथा प्रदेश की भाजपा सरकार उन पर काबू पाने में असहाय सिद्ध हो चुकी है। जंगली हाथियों द्वारा प्रभावित ग्रामीणों को अपने मकानों से बेदखल कर दिया जा रहा है

तथा जान से हाथ भी धोना पड़ रहा है। आवारा कुत्तों के हमलों से प्रदेश की जनता को सरकार बचा नही पा रही है तथा सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी नजर आ रही है।

हाथियों के दल के हमलों को रोक पाने में सरकार असफल हो चुकी है। इससे हाथियों के हमले बढ़ते ही जा रहे है उन्हें रोकने का कोई भी उपाय सरकार को सूझ नहीं रहा है।

इस दिशा में सरकारी अमला भी अपने आप को असहाय महसूस कर रहा है। रिजवी ने कहा है कि जंगली हाथी और आवारा कुत्तों को काबू करने के सभी प्रयास असफल हो चुके हैं ।

ऐसी नाकारा भाजपा सरकार से नक्सलियों के आतंक से मुक्ति पाने की उम्मीद करना बेमानी है। सरकार की दोनों क्षेत्रो में असफलता प्रशासनिक विफलता का प्रतीक बन चुका है।

भाजपा सरकार को अपने खोखले विकास का ढिढोरा पीटने के अभियान में भावी पराजय के भय से ग्रसित होकर इस दिशा में कारगर कदम नहीं उठा सक रही है।

जंगली हाथियों , आवारा कुत्तों एवं नक्सली वारदातों से हो रहे जान माल के नुकसान का मुआवजा देकर सरकार अपने कर्तव्य की इतिश्री मान लेती है जो सरकार की प्रशासनिक उदासीनता का स्पष्ट उदाहरण है।

Back to top button