रायपुर में हाथियों की आहट, वनांचल वासी दहशत में

वन विभाग ने जिले में अलर्ट जारी कर दी है

रायपुर। राजधानी में कुछ हाथियाँ पिछले दो दिन से अपने दल से भटके महासमुंद व बलौदा बाजार से लगी रायपुर की सीमा के पास अभी हैं, रायपुर के वनांचल वासी इस बात को लेकर दहशत में हैं कि यदि भटके हाथी अपने दल की तलाश में आबादी की ओर बढ़ गए हैं. वन विभाग ने जिले में अलर्ट जारी कर दी है

दिक्कत तब होती है, जब हाथी आबादी वाले इलाकों में प्रवेश कर जाते हैं। पिछले दो दिन से अपने दल से भटके हाथी महासमुंद व बलौदा बाजार से लगी रायपुर की सीमा के पास अभी हैं, हाथी कब नदी पार कर रायपुर के वनांचल में आ जाए कहा नहीं जा सकता।

हाथियों के अपने दल के भटकाव को लेकर वन विभाग महकमा भी परेशान है अलर्ट जारी कर वन कर्मियों को सतर्क किया है और समीपवर्ती गांवों के लोगों को जंगल में ज्यादा अंदर न जाने की सलाह दी है।

महासमुंद व बलौदा बाजार के इन इलकों में दशहत

हाथियों के अपने दल से भटकने से रायपुर के वनांचल इलाके के ग्रामीण तो दशहत में हैं ही महासमुंद के कुकराडीह, परसाडीह, बंजर, पीढ़ी, मोहकाम एवं समीपवर्ती गांवों व बलौदा बाजार के बरबसपुर, खैरा, औराई, नावाडीह, अलवा, कासापत्थर व समीपवर्ती गांवों में भी दहशत का माहौल है।

महासमुंद में बार दल के 14 सदस्य व लोनर्स भटके हैं, वहीं बलौदा बाजार के बार दल के पांच सदस्य भटके हुए हैं। वन विभाग की माने तो इन हाथियों के कुछ दिन इधर ही मूवमेंट की आशंका व्यक्त की गई है।

सवा दो सौ हाथियों का है कुनबा

राज्य के 14 वन मंडलों में अनुमानित 228 हाथियों का कुनबा है, जो समय समय पर आबादी वाले इलाकों की ओर रुख करता रहता है। वन विभाग हाथियों के आबादी की ओर रुख रोकने के लिए प्रयास करता रहता है, ताकि जनहानि समेत बर्बादी को रोका जाए।

नदी पार करने की सूचना नहीं

महासमुंद के डीएफओ आलोक तिवारी ने बताया कि अपने दल से बिछड़े हाथियों का दल अभी नदी पार नहीं किया है। हाथियों के मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है।

Tags
Back to top button