मालदीव में 30 दिन के लिए बढ़ाया गया आपातकाल

एक प्रमुख संसदीय समिति ने राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन अब्दुल गय्यूम के आपातकाल को बढ़ाने के आग्रह को स्वीकार कर लिया. इसके बाद संकटग्रस्त मालदीव में सोमवार को आपातकाल और 30 दिन के लिए बढ़ा दिया गया

एक प्रमुख संसदीय समिति ने राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन अब्दुल गय्यूम के आपातकाल को बढ़ाने के आग्रह को स्वीकार कर लिया. इसके बाद संकटग्रस्त मालदीव में सोमवार को आपातकाल और 30 दिन के लिए बढ़ा दिया गया. .

यामीन ने संसद में आपातकाल की अवधि बढ़ाने का अनुरोध किया था
राष्ट्रपति यामीन ने पीपल्स मजलिस (संसद) में आपातकाल की अवधि बढ़ाने का अनुरोध किया था, जिसे पीपल्स मजलिस की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक के दौरान मंजूरी प्रदान कर दी गई. पीपल्स मजलिस के उपाध्यक्ष सांसद मूसा मानिक ने आज बैठक के दौरान समिति द्वारा इस अनुरोध को स्वीकार किए जाने की पुष्टि की.

मालदीव में एक फरवरी से ही चल रही है राजनीतिक उथल-पुथल
उल्लेखनीय है कि मालदीव में एक फरवरी से ही राजनीतिक उथल-पुथल चल रही है. उस दिन देश के उच्चतम न्यायालय ने यामीन के कई राजनीतिक विरोधियों को रिहा करने का आदेश दिया था. इन कैदियों में देश के पहले निर्वाचित राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद भी शामिल थे। वह इस साल होने वाले चुनाव में यामीन के मुख्य प्रतिद्वंद्वी हो सकते थे.

यामीन ने देश में 15 दिन के लिए आपातकाल लगा दिया था
न्यायपालिका के साथ कई दिनों तक चले टकराव के बाद यामीन ने देश में 15 दिन के लिए आपातकाल लगा दिया था. साथ ही देश के प्रधान न्यायाधीश और उच्चतम न्यायालय के एक अन्य न्यायाधीश को रिश्वतखोरी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था.

मालदीव में हो रहे हैं प्रदर्शन
बता दें कि मालदीव में राष्ट्रपति यामीन अब्दुल गयूम के इस्तीफे और उनके राजनीतिक विरोधियों की जेल से रिहाई की मांग को लेकर देशभर में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिसिया कार्रवाई में दर्जनों विपक्ष समर्थक घायल हुए हैं और कई अन्य को गिरफ्तार किया गया है. देश में आपातकाल लगे होने के बावजूद हजारों लोगों ने द्वीप देश में विरोध-प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे हैं.>

Back to top button