इंजी. राशीद की अपील, पीडीपी-नैकां मिलकर बनाएं सरकार

श्रीनगर : उतर कश्मीर में कुपवाडा जिला के लंगेट निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल रशीद उर्फ इंजी. रशीद ने नैशनल कांफ्रैंस (नैकां) और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पी.डी.पी.) से हाथ मिलाने और लोगों के विश्वास को जीतने के लिए सरकार बनाने की अपील की। उन्होंने दोनो पार्टियों से केन्द्र को हुक्म चलाने या चुनावों का बहिष्कार करने की अपील की।

आज यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रशीद ने कहा कि हर कोई जानता है कि नैकां और पी.डी.पी. के बीच में कोई वैचारिक अंतर नहीं है लेकिन सत्ता, अहंकार और नई दिल्ली के हुक्म के लिए वह एक दूसरे का विरोध करते हैं। नैकां और पी.डी.पी. के लिए उच्च समय है कि वह उनके विसंगत अहंकार को त्याग दे और सरकार का गठन करें। साथ ही अतीत को दफना कर नया युग शुरु करें जहां से वह नई दिल्ली का मुखपत्र बनने के बजाय उनपर हुक्म चलाए।

दोनों दल मिलेंगे तो बढ़ेगा मनेाबल : उन्होंने कहा कि राज्य में दो प्रतिद्वंद्वी दलों का एक साथ आने से कश्मीर के लोगों का मनोबल बढ़ जाएगा। इससे पार्टियों के बीच विश्वास बहाल होगा और लोगों के विश्वास को जीत लेगा। नैकां और पी.डी.पी. किसी प्रमुख व्यक्ति को मुख्यमंत्री के रुप में नामांकित कर सकते हैं जो किसी भी सदन या पार्टी का सदस्य नहीं है। इससे कश्मीरियों को एक वास्तविक भावना मिलेगी कि नैकां और पी.डी.पी. ऐसा सत्ता के लिए नही कर रहे हैं, लेकिन कश्मीर विवाद के समाधान के लिए ईमानदार हंै और नई दिल्ली को यह समझाए कि वह अपने चयन के समय शेख मोहम्मद अब्दुल्ला से महबूबा मुफ्ती तक कश्मीरी नेताओं को अपमानित नहीं कर सकते हैं।

दोनों पार्टियों से मिलकर करेंगे बात : विधायक ने कहा कि उन्होंने पी.डी.पी. प्रमुख महबूबा मुफ्ती और नैकां के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला दोनो से मुलाकात की मांग की है ताकि वह उनका विचार उनके सामने रख सकें। रशीद ने कहा कि यदि नई दिल्ली नैकां और पी.डी.पी. द्वारा हाथ मिलाने में बाधा डालती है तो सभी मुख्यधारा पार्टियों को चुनावों का बहिष्कार करना चाहिए। कश्मीर के लोग पी.डी.पी.-भाजपा गठबंधन का अंत चाहते थे लेकिन जिस तरह से भाजपा ने गठबंधन से समर्थन वापस लिया वह अनैतिक और निदांजनक था।

Back to top button