नौकरी का झांसा देकर रकम वसूलने वाला इंजीनियर गिरफ्तार

रायपुर।

छत्तीसगढ़ स्टेट पावर जनरेशन कार्पोरेशन लिमिटेड में नौकरी लगाने के नाम पर करोड़ो रूपये की ठगी करने वाले आरोपी पुष्पेन्द्र देवागंन को राजधानी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बेरोजगारों को नौकरी का झांसा देकर आरोपी मोटी रकम की मांग करता था. आरोपी के द्वारा अब 12 से अधिक इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके युवाओं को धोखा दे चुका है. पेशे से इंजीनियर आरोपी पुष्पेन्द्र देवागंन प्रति व्यक्ति से 5 लाख रुपए की मांग करता था. पंड़री थाने में शिकायत के आधार पर पंडरी पुलिस और क्रांइम ब्रांच की टीम ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी के कब्जे से 1 नग लैपटाॅप, 2 नग मोबाईल फोन, नगदी 16,000 रूपये, आई फोन का घड़ी, 4 नग सील एवं आई-20 कार जब्त किया गया है.

प्रार्थी सुरेन्द्र कुमार वर्मा ने थाना पंडरी में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह ग्राम रावन जिला बलौदा बाजार का निवासी है. तथा शासकीय पाॅलीटेक्निक खैरागढ़ से डिप्लोमा उत्र्तीण है. उसी कालेज में उसका जुनियर पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन भी अध्ययनरत था. जो कई वर्षो से पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन पहचानता है. पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन ग्राम सकर्रा जिला जांजगीर चांपा का रहने वाला है.

पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन ने प्रार्थी को बताया कि उसकी पहचान वरिष्ठ शासकीय लोगों से है और वह स्वयं सीएसईबी (छत्तीसगढ़ स्टेट इलेक्ट्रीसिटी बोर्ड) में शासकीय पद पर कार्यरत है. पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन द्वारा प्रार्थी को सीएसपीजीसीए में शासकीय नौकरी दिलवाने का आश्वासन देकर प्रार्थी से उक्त विभाग में जूनियर इंजीनियर के पद पर नौकरी लगाने की बात कहकर 03 लाख रूपये की मांग की गई।

जिस पर प्रार्थी पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन की बातों पर भरोसा करके उसके झांसे में आकर 02 लाख 70 हजार रूपये दे दिया. कुछ दिनों बाद पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन ने प्रार्थी को जूनियर इंजीनियर (इलेक्ट्रिकल) सीएसपीजीसीएल का नियुक्ति पत्र दिया गया. जब नियुक्ति पत्र लेकर ज्वाईनिंग हेतु सीएसपीजीसीएल के शासकीय कार्यालय गया तो पता चला उक्त नियुक्ति पत्र पूर्ण रूप से फर्जी व झूठा है.

इस बात की जानकारी पुष्पेन्द्र देवांगन को देकर अपना रकम वापस मांगा जिस पर पुष्पेन्द्र देवांगन ने किश्तों में 01 लाख रूपये प्रार्थी को वापस दिया. शेष रकम मांगने पर पुष्पेन्द्र देवांगन रकम नहीं देने की बात कहता है. जिस पर आरोपी पुष्पेन्द्र देवांगन के विरूद्ध थाना पंडरी में मामला दर्ज करवा दिया.

वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देशन में क्राईम ब्रांच, थाना पंडरी एवं थाना उरला की टीम द्वारा आरोपी की पतासाजी प्रारंभ की गई. टीम द्वारा आरोपी के संबंध में तकनीकी विश्लेषण कर मुखबीर लगाकर पतासाजी करने के साथ – साथ उसके छिपने के हर संभावित स्थानों पर रेड कार्यवाही कर आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे थे.

इसी दौरान टीम को आरोपी के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई जिस पर आरोपी पुष्पेन्द्र देवांगन को गिरफ्तार कर इसके कब्जे से 01 नग लैपटाॅप, 02 नग मोबाईल फोन, नगदी 16,000 रूपये, आई फोन का घड़ी, 04 नग सील एवं आई-20 कार को जप्त किया गया है. आरोपी के विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही की जा रही है.

आरोपी द्वारा नौकरी दिलाने के नाम पर 01. सुरेन्द्र कुमार वर्मा 01 लाख 70 हजार. 02. वंदना देवांगन 02 लाख . 03. सुधीर देवांगन 03 लाख.04. रूपेन्द्र साहू 02 लाख 50 हजार. 05. दिनेश कुमार नेताम 02 लाख 50 हजार. 06. रूपेश पटेल 02 लाख 30 हजार. 07. नरोत्तमदास मानिकपुरी 03 लाख रुपए की रकम वसूल चुका है.

1
Back to top button