अक्सर स्‍कर्ट और हाई हील में ही नजर आते हैं इंजीनियर मार्क ब्रायन

मार्क ब्रायन के ड्रेसिंग स्‍टाइल को पूरा समर्थन भी देती है पत्‍नी

जर्मनी: जर्मनी में रहने वाला एक अमरीकन कपड़ों से जुड़ी इसी लैंगिक रूढि़वादिता को खत्म करने में जुटा है. ‘कपड़ों का कोई जेंडर नहीं होता. फैशन किसी लैंगिक रूढ़ी का मोहताज नहीं है.’

यही संदेश देने के लिए पिछले चार साल से 61 वर्षीय अमरीकन मार्क ब्रायन सार्वजनिक रूप से स्कर्ट और ऊंची एड़ी पहन रहे हैं। उनकी इस पहल में उनकी पत्नी ही नहीं पूरा परिवार उनका साथ दे रहा है.

स्‍कर्ट और हाई हील पहनने वाले मार्क की शादी को 11 साल हो चुके हैं और उनकी पत्‍नी उनके ड्रेसिंग स्‍टाइल को पूरा समर्थन भी देती हैं. कई बार तो वो उन्‍हें ड्रेस चुनने में भी मदद करती हैं.

उनके 3 बच्‍चे हैं और बेटी को तो उनकी हाई हील वाली सैंडिल बेहद पसंद हैं. जी न्‍यूज की सहयोगी वेबसाइट WION से बातचीत में मार्क ने जोर दिया कि लोग जो भी कपड़े पहनना चाहते हैं, उन्‍हें पहनना चाहिए. स्‍टाइल को किसी भी लिंग (gender) से जोड़ना गलत है.

61 वर्षीय मार्क कहते हैं, ‘मैं 35 साल से कॉर्पोरेट माहौल में काम कर रहा हूं और मुझे हमेशा सूट और टाई पहननी पड़ती थी. इससे मैं बहुत बोर हो गया था. रंग भी वही गिने-चुने नीले, काले और ग्रे जैसे ही थे. इसके बाद एक दिन अचानक बदलाव आ गया.’

मार्क ने कहा कि एक दिन मैं जूतों की शॉपिंग करते हुए वूमन सेक्‍शन में चला गया वहां मुझे कुछ अच्छे रंग दिखे. मैंने सोचा कि मैं हाई हील के जूते पहनूंगा और मैंने ऐसा करना शुरू कर दिया.

पर तब भी मैं पहले की तरह काला पैंट और सफेद शर्ट पहन रहा था. एक दिन मेरे सहकर्मियों ने मजाक में कहा कि किसी दिन तुम स्कर्ट पहनना शुरू कर दोगे. मैंने सोचा ठीक है और स्कर्ट पहनना शुरू कर दिया. इस बात को 3 साल हो गए हैं.’

सोशल मीडिया पर पॉपुलर है मार्क का ड्रेसिंग सेंस मार्क कहते हैं, ‘मुझे लगता है कि कपड़े का कोई लिंग नहीं होना चाहिए. जो लोग मुझे इंस्टाग्राम पर फॉलो करते हैं, वे मेरी तस्वीरों को बहुत पसंद करते हैं और कहते हैं कि मैं उन्‍हें प्रेरित कर रहा हूं कि वे भी अपनी पसंद के कपड़े पहन सकें. बल्कि इसके लिए न केवल पुरुषों बल्कि महिलाओं ने भी मेरी सराहना की.’

उन्‍होंने आगे कहा, ‘एक महिला ने तो यहां तक कहा कि मुझे पुरुषों के कपड़े पहनना पसंद है लेकिन कभी-कभी मैं बाहर जाने से डरती हूं, कि लोग सोचेंगे कि मैं एक समलैंगिक हूं. कुछ पुरुषों ने भी ऐसा ही कहा कि महिलाओं के कपड़े पहनने पर उन्‍हें गे समझा जाएगा.’

हील पहनने में मुश्किल नहीं होती, इस सवाल पर मार्क ने कहा, ‘ मेरे पैर और एडि़यां बहुत मजबूत हैं. लेकिन ज्‍यादा देर तक खड़े होने में मुझे मुश्किल होती है. मेरे पास 50 जोड़ी जूते हैं और मुझे वे बेहद पसंद हैं.’

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button