इस इंजीनियर के अपहरणकर्ताओं को मिली आजीवन कारावास की सजा

पुलिस ने दरवाजा तोड़कर इंजीनियर को आरोपियों के चंगुल से मुक्त कराया था

रायपुर: इंजीनियर सुशील गुप्ता अपहरण कांड में शामिल 5 आरोपियों को आज कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। बता दे कि दो साल पहले एक पूर्व नौकर ने इंजीनियर के अपहरण की साजिश रची थी। इस कांड में पुलिस ने तत्काल मोबाइल नंबर ट्रेस करते हुए मौके पर पहुंचकर दरवाजा तोड़कर इंजीनियर को आरोपियों के चंगुल से मुक्त कराया था।

इसमें एक नाबालिग भी शामिल था, जिसका प्रकरण बाल न्यायालय में लंबित है। यह मामला चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश विवेक कुमार वर्मा की अदालत में चला। अदालत ने आज आरोपी मनोज शर्मा (26) निवासी कानपुर, अब्दुल सामी खान (38) निवासी पुणे, अबोनी मिस्त्री (27) निवासी कांकेर, मालती उर्फ खुशी (28) निवासी पुणे, प्रीति शर्मा निवासी कानपुर को धारा 364(क) व धारा 120बी के तहत आजीवन कारावास, धारा 342 के तहत एक वर्ष की सजा और धारा 25(1) के तहत पांच वर्ष कारावास की सजा सुनाई है।

Back to top button