रन आऊट करने का यह अनोखा रिकॉर्ड बना रहा है इंगलैंड

जालन्धर : बीते दिन ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्राथ ने यह बयान देकर क्रिकेट फैंस को चौंका दिया था 2019 में होने वाले क्रिकेट वल्र्ड कप के लिए सबसे बड़ा दावेदार इंगलैंड की टीम है। मैकग्राथ ने तर्क दिया था कि इंगलैंड के पास कुछ बेहतरीन ऑल राउंडर हैं। जो अगर मैच में बल्ले से नहीं चलते तो गेंदबाजी में कमाल कर जाते हैं।

वहीं, इंगलैंड टीम की मेन स्ट्रैंथ उनकी फील्डिंग भी है। इसी फील्डिंग के दम पर इंगलैंड कई मैच जीत चुका है। बता दें कि विरोधी टीम को रन आऊट करने के मामले में भी इंगलैंड के नाम पर एक अनोखा रिकॉर्ड है।

4 बार कर चुके हैं विरोधी टीम के चार खिलाडिय़ों को रन आऊट : इंगलैंड की बढिय़ा फील्डिंग का यह जीता-जागता उदाहरण है। इंगलैंड टीम चार बार एक दिवसीय मैच में विरोधी टीम के 4 खिलाडिय़ों को रन आऊट कर चुकी है। पहली बार 1979 में लॉड्र्स के मैदान में। इंगलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच यह मैच खेला गया था।

ऑस्टे्रलिया ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया था। लेकिन इंगलैंड की तेज फील्डिंग के कारण ऑस्ट्रेलिया 60 ओवर में केवल 159 रन ही बना पाई। इंगलैंड टीम के फील्डिरों ने मैच में ग्राहम यालोप, गैरी कोजियर, ट्रेवर लोग्लिन और रोडनी हॉग को रन आऊट किया।

इंडिया टीम के चार बल्लेबाज रन आऊट किए : इंगलैंड ने दूसरी बार 1992 में पर्थ स्टेडियम में खेले गए मैच के दौरान टीम इंडिया के चार खिलाडिय़ों को रन आऊट किया था।

भारतीय टीम की ओर से रवि शास्त्री, प्रवीण अमरे, किरण मौरे, जवागल श्रीनाथ रन आऊट हुए थे। इस कारण इंगलैंड ने अपना 236 रन का दिया लक्ष्य आसानी से बचा लिया था।

1997 में फिर ऑस्ट्रेलिया को भी आड़े हाथों लिया : ओवल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए वनडे में एक समय मजबूत नजर आ रहे ऑस्ट्रेलिया को इंगलैंड के चुस्त फील्डरों ने थाम दिया था।

इस कारण ऑस्ट्रेलिया केवल 249 रन ही बना पाई थी। इंगलैंड ने मार्क वॉग, मार्क टेलर, फिल डीफ्रिटिस और माइकल स्लेटर को रन आऊट किया था।

बे ओवल में भी इंगलैंड ने दोहराया इतिहास : इंगलैंड टीम इस समय ऑस्टे्रलिया और न्यूजीलैंड के दौरे पर हैं। इसके तहत न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने माउंट माउनग्नूई के मैदान में दूसरा वनडे खेला।

इसमें इंगलैंड के फील्डरों ने न्यूजीलैंड के रोस टेलर, ग्रैंडहोम, टिम साऊथी, टें्रट बोल्ट को रन आऊट कर इतिहास दोहरा दिया।

बोनस में : दस बार एक पारी में पांच खिलाड़ी हो चुके रन आऊट : वैसे रन आऊट होने को किसी टीम की सबसे बड़ी कमजोरी के रूप में देखने को मिलता है। इस मामले में ऑस्ट्रेलिया अव्वल बनी हुई है।

ऑस्ट्रेलिया की टीम तीन बार एक दिवसीय मैच में अपने पांच खिलाड़ी रन आऊट करवा चुकी है। ओवरआल दस बार एक पारी में पांच खिलाड़ी रन आऊट हो चुके हैं।

new jindal advt tree advt
Back to top button