सभी राजस्व प्रकरणों को ई-कोर्ट में दर्ज कराकर कार्रवाई सुनिश्चित करें : कलेक्टर

29 जून तक कार्य पूरा नहीं करने पर कार्रवाई की दी चेतावनी

राजनांदगांव : कलेक्टर भीम सिंह ने जिले के सभी राजस्व अधिकारियों को सभी राजस्व प्रकरणों को ई-कोर्ट में दर्ज कराकर ई-कोर्ट के माध्यम से ही प्रकरणों के निराकरण आदि की संपूर्ण कार्रवाई को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हंै। बैठक में उन्होंने राजस्व अधिकारियों के कार्यालयों में ई-कोर्ट में दर्ज कराने हेतु शेष रह गये लंबित प्रकरणों की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने इस कार्य को 29 जून तक पूरा नहीं कराने वाले राजस्व अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

कलेक्टर भीम सिंह ने आज 26 जून को जिला कार्यालय के वीडियो कांफ्रेसिंग कक्ष में राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर मैनूअल से ई-कोर्ट में दर्ज कराने हेतु की जा रही कार्रवाई की विस्तृत समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने विडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जिले के सभी तहसीलदारों एवं नायब तहसीलदारों से इस कार्य के प्रगति के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को ई-कोर्ट में दर्ज कराने हेतु शेष रह गये राजस्व प्रकरणों को ई-कोर्ट में दर्ज कराने के अलावा ई-पंजीयन के माध्यम से प्राप्त आवेदनों का नामांतरण दर्ज कर कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।

उन्होंने राजस्व अधिकारियों को राजस्व प्रकरणों के अंतर्गत नोटिस जारी करने एवं पक्षकारों को सूचना देने आदि सभी प्रक्रियाओं को ई-कोर्ट के माध्यम से करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने राजस्व कार्यालयों में लंबित प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की भी गहन समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को राजस्व प्रकरणों का निराकरण निर्धारित समयावधि में पूरा करने के निर्देश भी दिए। कलेक्टर सिंह ने कहा कि एक माह पूर्व मुख्य सचिव द्वारा इस संबंध में बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए थे। सिंह ने कहा कि राजस्व प्रकरणों के सभी पेशी को ई-कोर्ट के माध्यम से दर्ज कराना आवश्यक है।

सिंह ने पेड़ कटाई की अनुमति आदि के प्रकरणों को भी ई-कोर्ट में दर्ज कर कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बैठक में अपर कलेक्टर जे.के. धु्रव एवं ओंकार यदु सहित संयुक्त कलेक्टर एम.डी. तिगाला, डिप्टी कलेक्टर मरकाम, जिले के सभी एसडीएम एवं राजस्व अधिकारी उपस्थित थे।

Back to top button