Film Review: इमोशंस, खुशी, आंसू और जोश से भरी है ‘सीक्रेट सुपरस्टार’

नई दिल्ली: आमिर खान के प्रोडक्शन की फिल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ आज (गुरुवार) सिनेमा घरों में रिलीज हो गई है. इस फिल्म का इंतजार दर्शकों को कई दिनों से था, और हो भी क्यों न, क्योंकि जब आमिर खान किसी फिल्म के पीछे हों तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वह फिल्म बेहतरीन ही होगी.

इस फिल्म में आमिर खान, जायरा वसीम, मेहर विज, राज अरुण और तीर्थ शर्मा मुख्य भूमिकाओं में हैं.

फिल्म की कहानी पूरी तरह से 15 साल की एक टैलेंटेड स्कूल गर्ल इंसिया मलिक (जायरा वसीम) पर केंद्रित है. इंसिया बड़ौदा की रहने वाली है.

इंसिया का उनके मां और पापा से कुछ रिश्ते अच्छे नहीं हैं. फिल्म में इंसिया एक गायक बनना चाहती हैं. अपने इस सपने को पूरा करने के लिए इंसिया जमकर कर मेहनत करती हैं.

अपने सपने को पूरा करने के साथ-साथ वह अपनी मां को अपने पिता से दूर करने की भी कोशिश करती है, क्योंकि फिल्म में इंसिया के पिता को एक हिंसक व्यक्ति के रूप में दिखाया गया है. वहीं, फिल्म में आमिर एक अजीबोगरीब म्यूजिक डायरेक्टर की भूमिका में हैं, जिसका नाम शक्ति कुमार है.

इंसिया को सिंगर बनाने में उनकी मां और फ्लॉप हो चूका संगीतकार शक्ति कुमार मदद करते है. इनसिया की भूमिका निभा रही हैं ‘दंगल’ गर्ल जायरा वसीम और शक्ति कुमार की भूमिका में हैं आमिर खान जो की फिल्म में एक मेहमान भूमिका है.

यह फिल्म इमोशंस, खुशी, आंसू और जोश का एक शानदार मिश्रण है. हालांकि फिल्म में आपको कुछ नयापन देखने को नहीं मिलेगा. यह एक ऐसी लड़की की कहानी है, जो अपनी हिंसक शादी से बाहर निकलना चाहती है.

पहले भी इस विषयों पर कई फिल्में बन चुकी है, लेकिन इस फिल्म में इस कहानी को कुछ इस तरह से परोसा गया है, जो पूरी फिल्म में आपको बांधकर रखता है यानी इस फिल्म को अलग तरह से नैरेट करने का तरीका इसे औरों से अलग करता है.

इस फिल्म में आपको एक मां और बेटी के घर के अंदर की निराशा देखने को मिलेगी, जिनके घर में उनके इमोशंस के लिए कोई जगह नहीं है. फिल्म में जब इंसिया खुद को आजाद कर लेती है, तो वक्त आप अपने आंसूओं को बाहर निकलने से नहीं रोक पाएंगे.

इंसिया के जीत के जश्न में आप खुद को शामिल होता पाएंगे. वहीं, आमिर की बात करें तो उनका अभिनय आपको बेहद पसंद आएगा. फिल्म में उनकी भमिका अमेरिकन आयडल के जज ब्रैश सिमोन कॉवेल और बॉलिवुड के 90 के दशक के म्यूजिक डायरक्टरों का मिला-जुला रूप दिखता है लेकिन फिल्म में आगे आप इस किरदार की बारीकियों को देखते हैं.

वहीं, फिल्म की संगीत की बात करें, तो अमित त्रिवेदी का म्यूजिक आपको पसंद आएगा है. साथ ही कौसर मुनीर के गीत भी अच्छे हैं. निर्देशक अद्वैत चंदन ने सच में एक शानदार सिनेमा गढ़ा है.

1
Back to top button