छत्तीसगढ़

घरवास कार्यक्रम अंतर्गत ग्राम कसावाही में सामुदायिक बायोगैस संयंत्र की स्थापना

आज सुबह 11 बजे ग्राम कसावाही पहुंचे कलेक्टर रजत बंसल

धमतरी:धमतरी विकासखंड के ग्राम कसावाही में प्रदेश शासन की सबसे महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना के तहत घरवास कार्यक्रम अंतर्गत सामुदायिक बायोगैस संयंत्र की स्थापना का अवलोकन करने कलेक्टर रजत बंसल आज सुबह 11 बजे ग्राम कसावाही पहुंचे।

उन्होंने हितग्राही ग्रामीण देवनारायण उइके, खेमूराम नेताम, निरूप राम ध्रुव, धनेश राम तथा हलधर उइके के घर जाकर क्रेडा विभाग द्वारा स्थापित किए गए बायोगैस संयंत्र को देखा। सभी पांचों हितग्राहियों के बायोगैस संयंत्र सक्रिय स्थिति में पाए गए।

उक्त सभी हितग्राहियों के घर एक ही टैंक से बायोगैस की सप्लाई की जा रही थी, जिसके लिए 10 घनमीटर की क्षमता वाला गोबर टैंक एवं कंपोस्ट पिट विभाग द्वारा तैयार किया गया है। इस दौरान कलेक्टर ने ग्रामीणों से बातचीत भी की।

ग्रामीणों ने उन्हें बताया कि उनके यहां प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत एलपीजी गैस सिलेंडर जरूर हैं, लेकिन सिलेंडर की रिफिलिंग में काफी खर्च आ जाता था जिसकी वजह से वे ईंधन के तौर पर लकड़ी का उपयोग करते थे। कलेक्टर ने उन्हें बताया कि बायोगैस संयंत्र से न सिर्फ जंगलों की लकड़ी कटने का नुकसान होने से बचा जा सकेगा,

बल्कि उसके धुंए से होने वाली परेशानी से मुक्ति मिलेगी। और तो और, एलपीजी सिलेंडर रिफिलिंग के लिए होने वाले खर्च से भी निजात मिलेगी। इसके अलावा मुफ्त इंधन के साथ साथ उच्च स्तरीय गोबर खाद भी प्राप्त होगी,

जिसका उपयोग फसलों के लिए श्रेष्ठ जैविक कंपोस्ट के तौर पर किया जा सकेगा। ग्रामीणों ने भी बिना किसी खर्च के बायोगैस के ईंधन को बेहतर माना। साथ ही अवशेष के रूप में बचे हुए गोबर बेहतर खाद के रूप में इस्तेमाल किए जाने की बात कही। इस अवसर पर क्रेडा विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री भानु प्रताप, सहायक अभियंता टी आर ध्रुव सहित ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Tags
Back to top button