छत्तीसगढ़

आईसीयू की स्थापना स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में बड़ा कदम – पैकरा

मेडिकल कॉलेज अस्पताल में आईसीयू, सेन्ट्रल पैथोलैब, आपातकालीन एवं पुलिस सहायता केन्द्र तथा ‘‘नेकी की दीवार ‘‘ का शुभारंभ

अम्बिकापुर : प्रदेश के गृह जेल एवं लोक स्वास्थ्य

यांत्रिकी तथा जिले के प्रभारी मंत्री रामसेवक पैकरा ने आज मेडिकल कॉलेज अस्पताल के आई.सी.यू. (गहन चिकित्सा इकाई) सेन्ट्रल पैथोलैब, आपातकालीन एवं पुलिस सहायता केन्द्र तथा ‘‘नेकी की दीवार‘‘ का शुभारंभ जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में फीता काट कर किया।

समारोह को सम्बोधित करते हुए कार्यक्रम को मुख्य अतिथि गृह मंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि सरगुजा अंचल में चिकित्सा सुविधाओं का धीरे-धीरे विस्तार होते जा रहा है।

इसी कड़ी में आज मेडिकल कॉलेज अस्पताल में लम्बे समय से प्रतीक्षित आई.सी.यू. के प्रारंभ हो जाने से गंभीर मरीजों के इलाज के लिए महत्वपूर्ण कदम है।

इससे अस्पताल की विश्वसनीयता में वृद्धि होगी तथा रिफरल अस्पताल कहलाने का धब्बा भी मिट जाएगा। उन्होंने कहा कि यहां आई.सी.यू. प्रारंभ हो जाने से मरीजों को अन्य अस्पतालों में रिफर नहीं करना पड़ेगा।

पैकरा ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश में चारों ओर विकास निर्बाध रूप से प्रभावित हो रही है। उन्होंने कहा कि सरगुजा संभाग में मेडिकल कॉलेज तथा सरगुजा विश्वविद्यालय की स्थापना से यहां विकास आकार ले रहा है।

सरगुजा एवं बस्तर जैसे दूरस्थ आदिवासी क्षेत्रों में विकास की निरंतर वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में लम्बे समय से आई.सी.यू. की आवश्यकता महसूस की जा रही थी जिसे विलंब से ही सही लेकिन आज इसका विधिवत प्रारंभ हो गया है।

उन्होंने कहा कि आई.सी.यू. एवं सेन्ट्रल पैथोलैब खुल जाने से लोगों को अब अन्य अस्पतालों का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। उन्हें मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ही विभिन्न प्रकार के जांच की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

उन्होंने कहा कि आने वाले समय में अस्पताल की मूलभूत आवश्यकताओं को दूर करने के लिए प्रयास किए जाते रहेंगे।

उन्होंने कहा कि नवनिर्मित आई.सी.यू. अस्पताल के तीसरी मंजिल में होने के कारण मरीजों को आने-जाने में परेशानी को ध्यान में रखते हुए लिफ्ट की व्यवस्था पर जोर दिया।

पैकरा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान की सराहना करते हुए कहा कि स्वच्छ भारत अभियान आज एक जन आंदोलन का रूप धारण कर लिया है तथा लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ती ही जा रही है।

उन्होंने अस्पताल परिसर की साफ-सफाई को महत्वपूर्ण बताते हुए इस पर सतत निगरानी रखने की बात कही।

गृहमंत्री ने कहा कि सरगुजा जिले में जिला प्रशासन द्वारा अनेक नवाचार के कार्य किए जा रहे हैं, इसी क्रम में आज यहां अस्पताल परिसर में मरीजों को मुफ्त में फल एवं सामग्री दान के माध्यम से उपलब्ध कराने के लिए ‘‘नेकी की दीवार‘‘ का शुभारंभ किया गया है।

यह कार्य मरीजों के सहयोग के साथ ही साथ यहां के लोगों को मानव मात्र क प्रति सहयोग करने की भावना के लिए प्रेरित करेगा। उन्होंने ‘‘नेकी की दीवार‘‘ के संचालन की जिम्मेदारी के लिए सिक्ख समाज एवं सिन्धी समाज के प्रतिनिधियों को शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर सरगुजा सांसद कमलभान सिंह ने कहा कि मेडिकल कॉलेज की मांग पूरे सरगुजा अंचल के लोगों की मांग थी जिसे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सहर्ष मानते हुए यहां मेडिकल कॉलेज खोलने की स्वीकृति दी। मेडिकल कॉलेज खुलने के बाद भी अस्पताल में कई कमियां महसूस की जा रही थी, जिनमें आई.सी.यू. एवं पैथोलैब अग्रणी थी।

उन्होंने कहा कि आज आई.सी.यू. एवं पैथोलैब के खुल जाने से सरगुजा संभाग के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

दुर्घटना एवं आपात स्थिति में लोगों को अन्य अस्पतालों में नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि डॉ. मरीजों की 24 घंटे देखभाल कर उनको बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध रहते हैं।

सिंह ने कहा कि यह खुशी की बात है कि सरगुजा संभाग के सबसे बड़े अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं का क्रमिक रूप से विस्तार होते जा रहा है। उन्होंने नवनिर्मित आई.सी.यू. के लिए लिफ्ट की सुविधा के लिए सांसद निधि से सहयोग करने की बात कही।

इस अवसर पर महापौर डॉ. अजय तिर्की ने कहा कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में आई.सी.यू. एवं सेन्ट्रल पैथोलैब प्रारंभ हो जाने से लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाए उपलब्ध हो सकेंगी। उन्होंने कहा कि अस्पताल की बेसिक जरूरतों का धीरे-धीरे कमी दूर होते जा रही है।

उन्होंने दवाईयों की उपलब्धता पर जोर दते हुए कहा कि कभी-कभी कुछ महत्वपूर्ण दवाइयों की कमी एवं समय पर उपलब्ध नहीं हो पाने से समस्या उत्पन्न हो जाती है, इसे दूर करना भी अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे अस्पताल का अपग्रेडेशन होगा उसमें सुविधाओं की विस्तार भी होते जाएगी।

उल्लेखनीय है कि कलेक्टर किरण कौशल के मार्गदर्शन में मेडिकल कॉलेज अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी की दिशा में कारगर कदम उठाते हुए अस्पताल के तृतीय तल पर 61 लाख 14 हजार रूपए की लागत से आईसीयू का निर्माण कराया गया है।

इस आईसीयू में मेडिकल एवं सर्जिकल के 10-10 बेड हैं, जिसमें मेडिकल एवं सर्जिकल के 10-10 मरीजों को भर्ती किया जा सकेगा। इसी प्रकार ऑफिसर्स क्लब के पुराने भवन का मरम्मत कर 12 लाख 90 हजार रूपए की लागत से सुसज्जित सेन्ट्रल पैथोलैब का निर्माण किया गया है।

इस लैब में बॉयो केमेस्ट्री, माइक्रो बॉयोलॉजी की सुविधाएं मिल सकेंगी। पैथोलैब में कलेक्शन सेन्टर, साइटो पैथोलॉजी, रिर्पोटिंग रूम सहित टेक्निकल रूम बनाया गया है। अस्पताल परिसर में ही ‘‘नेकी की दीवार‘‘ एवं 6 बेडयुक्त आपातकालीन एवं पुलिस सहायता केन्द्र का निर्माण कराया गया है।

इस अवसर पर इस अवसर पर अम्बिकापुर विधायक एवं विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव,कलेक्टर किरण कौशल, पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक संचालक मण्डल के सदस्य अखिलेश सोनी.

छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष अनिल सिंह मेजर, छत्तीसगढ़ अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य प्रबोध मिंज, पार्षद आलोक दुबे.

अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अजय त्रिपाठी, अस्पताल अधीक्षक एवं संयुक्त संचालक डॉ. ए.के. जायसवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ. एन.के. पाण्डेय सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में स्थानीयजन उपस्थित थे।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.