नेचुरल गैस से चलेगा 2030 तक बिकने वाला हर दूसरा गाड़ी, इन कंपनियों को होंगा नफा

इस महीने शहरों में गैस वितरण के 10वें राउंड का ऐलान किया है, जिससे 124 और जिलों में सीएनजी इंफ्रास्ट्रक्चर बनाया जाएगा

नई दिल्ली। साल 2030 तक देश में बिकने वाला हर दूसरा वाहन नेचुरल गैस से चल रहा होगा। इससे मारुति सुजुकी और ह्यूंदई मोटर इंडिया जैसी कार कंपनियों को फायदा होगा।

सरकार ने अगले 10 सालों में 10,000 सीएनजी स्टेशन खोलने के लिए हाल में नेचुरल गैस इंफ्रास्ट्रक्चर डिवेलपमेंट प्लान का ऐलान किया है।

इसके अलावा पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस रेग्युलेटरी बोर्ड (पीएनजीआरबी) ने इस महीने शहरों में गैस वितरण के 10वें राउंड का ऐलान किया है, जिससे 124 और जिलों में सीएनजी इंफ्रास्ट्रक्चर बनाया जाएगा।

ग्लोबल कंसल्टेंसी फर्म नोमुरा रिसर्च इंस्टीट्यूट ने एक रिपोर्ट में बताया, ‘इन कदमों से 2030 तक कुल बिकने वाली गाड़ियों में नेचुरल गैस से चलने वाले वीइकल की संख्या को 50 पर्सेंट तक पहुंचाने का लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी।

इससे साल 2030 तक क्रूड ऑयल इंपोर्ट के बिल को 11 लाख करोड़ रुपये तक कम किया जा सकता है।’

सीएनजी सेल्स में मजबूत ग्रोथ

फिलहाल मारुति सुजुकी और ह्यूंदई मोटर इंडिया देश में सीएनजी वाहन बेचने वाली प्रमुख कंपनियां हैं। पिछले कुछ महीनों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के चलते मारुति सुजुकी की सीएनजी कार सेल्स में 50 पर्सेंट से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने के मिली।

मारुति ने मौजूदा वित्त वर्ष की पहली छमाही में 55,000 सीएनजी यूनिट्स बेची हैं। पिछले महीने लॉन्च हुई सैंट्रो की सीएनजी वेरिएंट के चलते हुंडई मोटर की सीएनजी सेल्स में भी मजबूत ग्रोथ दर्ज की गई।

1
Back to top button