हर 2 महीने में नया लोन ले रहे हैं युवा, चौंकाने वाले हैं आंकड़ें

नई दिल्ली। आसानी से लोन मिलने की सुविधा, अपनी कार-घर की जरूरतों और घूमने-फिरने के शौक को पूरा करने के लिए बेधड़क खर्च कर रहे हैं। यही नहीं, युवा हर साठ दिन में नया कर्ज भी ले रहे हैं। ऑनलाइन कर्ज देने वाले प्लेटफॉर्म कैश-ई की रिपोर्ट में यह सामने आया है।

एक लाख से ज्यादा युवाओं की क्रेडिट हिस्ट्री पर तैयार की गई इस रिपोर्ट के मुताबिक, युवा छोटी अवधि के कर्ज को प्राथमिकता देते हैं। प्लान अहेड वेल्थ एडवाइजर्स के सीईओ विशाल धवन का कहना है कि आसानी से लोन मिलना, परिवार से अलग रहना और आत्मनिर्भरता की सोच से युवाओं की खर्च को लेकर प्रवृत्ति तेजी से बदली है। हालांकि युवा अभी भी उधार लेकर जरूरतों को पूरा करने की ऊंची कीमत को लेकर अनजान है और इसी वजह से कर्ज के बोझ में दब जाते हैं।

बैंक बाजार के मुख्य कारोबारी विकास अधिकारी नवीन चंदानी का कहना है कि युवा अपनी जिंदगी के ऐशोआराम या विलासिता में कोई कटौती नहीं चाहते।

21 से 30 साल के युवा आगे – 64 फीसदी कर्ज की नई मांग 21 से 30 साल के युवाओं की ओर से आ रही है। यही नहीं कर्ज की नई मांग में से 64 फीसदी 21 से 30 साल के युवाओं की है, जबकि 36 फीसदी प्रौढ़ हो चुके लोगों की है। नौकरी की शुरुआत के साथ ही वे कर्ज लेने लगते हैं।

बजट बनाना जरूरी – विशेषज्ञों के मुताबिक, कर्ज के भंवर से बचने का सबसे जरूरी उपाय है कि बजट बनाकर खर्च किया जाए। युवा यह तय कर लें कि आय का कितना फीसदी वे क्रेडिट कार्ड के जरिये खर्च करेंगे। सबसे जरूरी है कि आय का 20 से 25 फीसदी बचत होनी चाहिए।

Back to top button