हेल्थ

ईयरफोन के ज्यादा इस्तेमाल से कान की समस्याओं से हो सकते हैं ग्रसित

हमेशा अच्छी कंपनी का ईयरफ़ोन इस्तेमाल करें

नई दिल्ली: ईयरफोन के ज्यादा इस्तेमाल से कान की समस्याओं से ग्रसित हो सकते हैं। अगर आप भी ईयरफोन का ज्यादा देर तक इस्तेमाल करते हैं तो समय रहते संभल जाइये क्योंकि ये ना केवल आपके कानों को नुकसान पहुंचाता है बल्कि आपके शरीर को भी कई तरह से नुकसान पहुंचाता है।

इसलिए ईयरफ़ोन इस्तेमाल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। क्या हैं वे बातें? जानिए यहां।

  1. अगर दिन में ज्यादातर समय वर्चुअल मीटिंग्स में रहना पड़ता है तो ईयरफोन के बजाय हेडफोन इस्तेमाल करें। दरअसल कान के अंदर मौजूद नाजुक कोशिकाएं दिमाग तक ध्वनि पहुंचाने का काम करती हैं। जब ईयरफोन त्वचा के माध्यम से इन कोशिकाओं को छूता है, तो इनके क्षतिग्रस्त होने की आशंका बढ़ जाती है। इसलिए रोज़ ज्यादा देर तक ईयरफोन लगाने से कानों को नुकसान पहुंच सकता है।

  2. ईयरफोन लगाने के बाद मोबाइल का वॉल्यूम जरूरत से ज्यादा तेज करने से कान के परदों के नुकसान पहुंच सकता है। सबसे बड़ा खतरा यह होता है कि तेज आवाज की वजह से उस वक्त तो कान से जुड़ी कोई तकलीफ व्यक्ति को महसूस नहीं होती। लेकिन कुछ समय बाद जब तकलीफ का एहसास होता है, तब काफी देर हो चुकी होती है। इससे कई बार समस्या गंभीर रूप धारण कर लेती है। इसलिए ईयरफ़ोन लगाकर कुछ भी सुनते समय अपने गैजेट का वॉल्यूम लेवल अधिकतम 40 प्रतिशत तक ही रखें।

  3. ईयरफ़ोन इस्तेमाल करते समय उस पर कई तरह के बैक्टीरिया जमा हो जाते हैं। कान के भीतरी हिस्से में इन्हें लगाते ही कान में संक्रमण फैल सकता है। इसलिए रोजाना सुबह ईयरफोन को हैंड सैनिटाइजर से साफ करें। साथ ही अपना ईयरफोन किसी दूसरों के साथ शेयर न करें। इससे भी कान में इंफेक्शन हो सकता है।

  4. कुछ लोग ट्रैवलिंग के दौरान ईयरफोन लगाकर म्यूजिक सुनते हैं। उन्हें लगता है कि इससे उन्हें आसपास के वातावरण में मौजूद ट्रैफिक का शोर सुनाई नहीं देगा। कई बार यह तरीका ज्यादा नुकसानदेह साबित होता है। दरअसल, इससे आसपास के वातावरण में बिखरी काम डेसिबल की ध्वनि से तो बचाव हो जाता है लेकिन ईयरफोन के जरिए कानों में सीधे पहुंचने वाली तेज़ ध्वनि कान के भीतरी हिस्से को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाती हैं।

  5. अगर आपको दिन में कई घंटे ईयरफ़ोन लगाकर काम करना पड़ता है तो हर घंटे के बाद पांच-सात मिनट का ब्रेक लें और ईयरफ़ोन हटा दे। कानों को आराम मिलेगा।

  6. अगर जॉब प्रोफाइल की वजह से ऑफिस से लौटने के बाद भी ज्यादा देर तक मोबाइल पर बात करने की जरूरत होती है, तो बातचीत के दौरान ज्यादातर समय स्पीकर इस्तेमाल करें।

  7. हमेशा अच्छी कंपनी का ईयरफ़ोन इस्तेमाल करें।।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button