Exclusive : गड्ढों में गिरना हो तो जाएं अमलीडीह

आँखे बंद कर बैठे है इलाके के जनप्रतिनिधि

Exclusive : गड्ढों में गिरना हो तो जाएँ अमलीडीह

रायपुर : राजधानी में बारिश के कारण कई प्रमुख एवं भीड़ भाड़ वाली सड़कों के परखच्चे उड़ गए हैं और धूल के गुब्बारे उठ रहे हैं. इन महत्वपूर्ण सड़कों में अमलीडीह मार्ग की हालत तो बदतर हो चुकी है. इस सड़क की स्थिति यह है कि यहाँ सड़कें कम और गड्ढे ज्यादा हो चुके हैं .

इस व्यस्ततम सड़क पर कोई भी गाडी 20 किलोमीटर की रफ़्तार से नहीं चलती थी लेकिन गड्ढों के कारण अब वाहन की रफ़्तार 5 किलोमीटर रह चुकी है . इसके अलावा गड्ढों की वजह से कई दो पहिया वाले गिर कर चोट खा चुके हैं तो चार पहिया वाले वाहन पंक्चर हो रहे हैं.

भीड़ और गड्ढों की अधिकता से वाहन टक्कर भी हो रही है . देर से जागने वाले प्रशासन के कानों में जूं रेंगी तो गड्ढों को भरने के लिए धूल , मिट्टी को लाये और भरना शुरू किया गया लेकिन अगली बारिश में यह धूल मिट्टी फिर बह जाएगी और गड्ढे अपना विकराल चेहरा लेकर वापस चमकने लगेंगे .

अमलीडीह पानी की टंकी से देवपुरी जाने वाला मार्ग पहले से ही संकरा है , उसपर सड़क के दोनों ओर बड़े बड़े गड्ढे हैं . चार पहिया वाहन आमने सामने होते हैं तो एक को गड्ढे में उतरना ही पड़ता है. इस त्रासद स्थिति से जब प्रशासन को अवगत कराने की कोशिश की गयी तो टालमटोल का रवैया दिखायी पड़ा.

क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि भी इस मामले पर आँखे बंद कर चुप्पी साधे बैठे हैं जबकि इस सड़क से गुजरने वाला व्यक्ति क्षेत्रीय पार्षद , क्षेत्रीय विधायक , सम्बन्धित मंत्री और राज्य सरकार के खिलाफ खुल्लम खुल्ला अपशब्दों का प्रयोग करते हैं.

ताज़ा हिंदी खबरों के साथ अपने आप को अपडेट रखिये, और हमसे जुड़िये फेसबुक और ट्विटर के ज़रिये

Tags
Back to top button